जाटव समाज द्वारा आयोजित तृतीय चरण का सामूहिक विवाह सम्मेलन 24 को

शिवपुरी। 21वां युवा संगठन द्वारा आयोजित जाटव समाज का आदर्श सामूहिक विवाह सम्मेलन का तृतीय चरण 24 मई गुरूवार को गंगा दशहरे पर किया जाएगा। जिसमें कई जोड़े विवाह बंधन में जुड़ेंगे। इससे पूर्व 30 मार्च और 18 अप्रैल को अक्षय तृतीया के दिन आयोजित किए जा चुके हैं जिसमें कई युवक युवती दाम्पत्य जीवन में बंध चुके हैं। सम्मेलन का चौथा चरण 20 जून और पांचवा चरण 4 जुलाई को आयोजित किया जाएगा। तृतीय चरण में विवाह सम्मेलन गांधी पार्क मैदान में आयोजित होगा। 

सम्मेलन मे जोड़ों के पंजीयन हेतु समिति ने कोषाध्यक्ष मनोज सूर्यवंशी को नियुक्त किया है। जिनसे शासकीय कोठी नम्बर 12 मंगल भवन के पास शिव मंदिर टॉकीज के सामने कार्यालय पर संपर्क किया जा सकता है। सम्मेलन में उपहारस्वरूप दिए जाने वाले सामान में मोटरसाइकिल, आलमारी, एलईडी, डबल बैड, दो कुर्सी, टेबिल, पानी की टंकी, वर वधु को एक-एक जोडी वस्त्र, 51 बर्तन सैट, कूलर, रजाई, गद्दा, सिलाई मशीन, स्टील की बर्तन डलिया, डीटीएच डिक्स, दीवाल घड़ी, सिलेण्डर, कुकर, बाल्टी, पटा बेलन, प्रेस, वरमाला, मण्डप, विवाह प्रमाण पत्र, कड़ाई, दुल्हन का हैण्ड पर्स, दो तकिया, मिक्सी, दुल्हे की तौलिया, गौतम बुद्ध और डॉ. अम्बेडकर का छायाचित्र, हाथ घड़ी, श्रृंगार दानी, प्लास्टिक टब, सूटकेश, तवा, चाय कप, टीका के पांच बर्तन, बैडशीट, कान के फूल चांदी के, चांदी की पायल, चांदी का मंगलसूत्र, नाक की लौंग सोने की, बिछुड़ी चांदी की, गैस चूल्हा, सलाद कटर, मोबाइल और धर्मग्रंथ शामिल हैं जिन्हें उक्त दंपत्ति को भेंट किया जाएगा। इस हेतु वर पक्ष से 42500 रूपए और कन्या पक्ष से 42000 रूपए पंजीयन के समय लिए जाएंगे। सम्मेलन आहुत कराने वाले युवा संगठन के अध्यक्ष रामबाबू ठेकेदार, कोषाध्यक्ष मनोज सूर्यवंशी, उपाध्यक्ष देवीलाल ठेकेदार, सचिव जसवंत सिंह मौर्य वीरा, महामंत्री भागचंद्र चौधरी चिटोरी, सह सचिव भोगीलाल भारती, मंच संचालक वीरेंद्र कुमार, सह संचालक रामनिवास सोमर, कपिल आर्य सहित संगठन के अन्य पदाधिकारियों ने विवाह सम्मेलन में अधिक से अधिक संख्या में समाजबंधुओं से रजिस्ट्रेशन कराकर सम्मिलित होने की अपील की है। 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

-----------

analytics