कांग्रेसी मुन्नालाल की नपा में कांग्रेसी नेता की ही नहीं हो रही सुनवाई, वाट्सएप ने किया काम

शिवपुरी। वैसे तो शिवपुरी नगर पालिका भ्रष्टाचार का ब्राड बन गई है। लगातार एक के बाद एक नपा ने भ्रष्टाचार उजागर होते आए है। नपा में न तो कोई नेता और न कोई पार्षद की सुनवाई हो रही हैै। नगर पालिका के ही पार्षद नपाध्यक्ष के खिलाफ नगर पालिका परिषद में ही धरने पर बैठ चुके है। परंतु आज तो शिवपुरी नपा से कांग्रेसी नेता भी परेशान हो गए है। 

नगरपालिका शिवपुरी में कांग्रेस का कब्जा है। अध्यक्ष और उपाध्यक्ष दोनों पदों पर कांग्रेसी काबिज हैं, लेकिन इसके बाद भी नगरपालिका  शिवपुरी में आमजन की बात तो छोडि़ए कांग्रेस नेताओं की भी नहीं हो रही सुनवाई। कांग्रेस नेता अजय गुप्ता के घर के सामने कल गाय ने दम तोड़ दिया और उन्होंने वहां से गाय उठवाने के लिए नपाध्यक्ष मुन्नालाल कुशवाह को फोन लगाया, लेकिन उसके बाद भी सारे दिन मृत गाय सडक़ पर पड़ी रही और उस पर कौवे और कुत्ते मंडराते रहे। 

वरिष्ठ कांग्रेसी नेता अजीत भदौरिया ने स्वीकार किया है कि नगरपालिका प्रशासन की कार्यप्रणाली का खामियाजा आगामी विधानसभा और लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को भुगतना पड़ेगा। नगरपालिका अध्यक्ष के कार्यकाल में शहर में कोई जनहित के कार्य नहीं हो रहे हैं। 

कांग्रेस नेता अजय गुप्ता ने बताया कि नगर पालिका अध्यक्ष से फरियाद करने के बाद भी जब उनके घर के सामने पड़ी मृत गाय नहीं उठी तो उन्होंने परेशान होकर आज सुबह अपना दर्द एक व्हाटसएप गु्रुप पर बयान किया। जिसमें उन्होंने मृत गाय का फोटो और नगरपालिका की असंवेदनशीलता को दर्शाने वाली पोस्ट डाली और जो काम नगरपालिका अध्यक्ष से फरियाद से नहीं हुआ वह उस पोस्ट के जरिए हो गया। 

तुरंत उस ग्रुप में सदस्य एक वरिष्ठ पत्रकार ने प्रभारी सीएमओ गोविंद भार्गव को फोन किया और श्री भार्गव ने तुरंत उस गाय को वहां से हटवाया। उस पोस्ट में श्री गुप्ता ने लिखा था कि जब मेरा यह हाल है तो आम जनता की क्या हालत होगी, जय हो नगरपालिका। इस पोस्ट के बाद ग्रुप के सदस्यों ने जमकर चुटकियां लीं। कईयों ने भाजपा शासित पूर्व की नगरपालिका की तारीफ की तो कईयों ने जमकर कांग्रेस और नपाध्यक्ष मुन्नालाल कुशवाह पर कटाक्ष किए।

Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics