आंगनवाड़ी के सामने किया जा रहा है अंतिम संस्कार, अधिकारी मौके पर

सतेन्द्र उपाध्याय/शिवपुरी। शिवपुरी मुख्यालय एबी रोड पर 20 किमी की दूरी पर बसे सेसई सड़क गांव में एक परिवार द्वारा शासकीय जमीन पर अतिक्रमण करने के लिए नया तरीका अपनाया जा रहा है। इस जमीन को हथियाने के लिए इस गांव का एक परिवार यहां अपने परिजनों का दाह संस्कार कर रहा है। जानकारी के अनुसार कोलारस विधानसभा में आने वाले गांव सेसई सडक़ के एक श्रीवास्तव परिवार ने आज सेसई सडंक के आंगनबॉडी केन्द्र क्रमांक 4 के गेट के सामने खली पडी सरकारी भूमि पर परिवार के सदस्य राजू श्रीवास्तव का अंतिम संस्कार कर दिया। 

बताया जा रहा है कि मृतक की मौत बीमारी के कारण हुई है। आंगनबॉडी केन्द्र के गेट के सामने जलती चिता को देखकर इस केन्द्र की कार्यकर्ता केन्द्र पर ताला लटका कर भाग गई और इस केन्द्र पर आने वाले बच्चे इस चिता को देखकर उल्टे पांव घर भाग गए है। 

बताया जा रहा है कि सेसई जैन मंदिर की रोड पर बने आंगनबॉडी केन्द्र के गेट के पास ही इस सेसई के इस श्रीवास्तव परिवार के बुर्जगो का एक चबूतरा वर्षो से बना है। इस कारण यह परिवार इस जमीन पर अपना हक जताता है लेकिन ग्रामीणों को कहना है कि यह जमीन सरकारी है, यह परिवार इससे पूर्व भी अपने परिवार के सदस्यों का यहां पर अंतिम सस्कार कर चुका है। इस जमीन पर अतिक्रमण करने के लिए यह परिवार इस सरकारी जमीन को अपने निज शमशान घाट बना रहा है। 

आंगनबॉडी केन्द्र में गर्भवती महिलाओं की गोदभराई जैसे कार्यक्रम, गर्भवती महिलाओ की जांच, टीका कार्यक्रम, पोषण आहार और बच्चों को आहार बाटा जाता है। अब यह शमशान घाट बना दिया तो गर्भवती महिलाए इधर नही आऐगी, और ग्रामीण भी अपने बच्चों को इधर नही आने देगें। कुल मिलाकर इस आंगनबॉडी केन्द्र पर अब ताला ही लटका मिलेगा। 

इस मामले में महिला बाल विकास अधिकारी कोलारस नीलम पटसेरिया ने कहा कि यह एक गंभीर मामला है और हम इस मामले में जांच करते है और उचित कार्रवाई करेंगें। वही शिवपुरी कलेक्टर तरूण राठी ने शिवपुरी समाचार डांट कॉम से बातचीत करते हुए कहा कि यह बहुत ही निंदनीय है, इसमें जो भी दोषी होगा उस पर कडी कार्रवाई की जावेगी। 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics