उमा भारती के साथ भाजपा सरकार ने क्या नहीं किया: भारती

कोलारस। सांसद श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपने दो दिवसिय दौरे के दौरान कोलास के सरजापुर, देहरदा सड़क, कैलधार, बूडाडोंगर, पचावली, सेसई सड़क में जनसभाओ को संबोधित किया इस दौरान संसद सिंधिया के साथ कई स्टार प्रचारक मौजूद रहे जिन्होने भाजपा को आडे हाथ लिया। ग्राम साखनौर में एक सभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस स्टार प्रचारक साधना भारती ने भाजपा सरकार को आडे हाथो लेते हुए भाजपा सरकार को अहंकारी सरकार बताया और समाज विरोधी बताया। 

भाजपा धर्म जात पात की राजनीती करती है लेकिन यह नही जानती इसका क्या परिणाम हो रहा है। कांग्रेस ने हमेशा धर्मनिपेक्षता की बात की है धर्मर्निपेक्षता का कार्य किया है। लेकिन आज यह लोग राम के नाम पर राजनीती करते है कहते है मंदिर वहीं बनांऐगे तारीख नही बताऐंगे अगर मंदिर बन गया तो राजनीती कैसे करेंगे। उन्होने राम के नाम पर राजनीती करने वालो पर तीखा प्रहार करते हुए व्याख्या कि-

राम मिलेंगे मर्यादा से जीने में, राम मिलेंगे बजरंगी के सीने में, 
राम मिले हैं वचनबद्ध वनवासों में, राम मिले हैं केवट के विश्वासों में, 
राम मिले अनुसुइया की मानवता को, राम मिले सीता जैसी पावनता को, 
राम मिले ममता की माँ कौशल्या को, राम मिले हैं पत्थर बनी आहिल्या को,
राम नहीं मिलते मंदिर के फेरों में, राम मिले शबरी के झूठे बेरों में, 

आगे भारती ने गरजते हुए कहा जैसे उमा भारती इस प्रदेश की बेटी है वैसे ही में साधना भारती प्रदेश की छोटी बेटी हूं जिस तरह से प्रदेश सरकार ने उमा भारती के साथ दुरूवहार किया ऐसा कोई नही करता पहले उनहे मुख्यमंत्री बनाया फिर उनहे पद से हटाया और फिर पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया और प्रदेश से तड़ी पार कर दिया यह र्दुवव्हार प्रदेश सरकार ने उमा भारती जी के साथ किया। अब पूरे प्रदेश की राजनीति से इन्हें दूर तो कर दिया। परंतु अब कोलारस में लोधी बोटरों की बात आई तो उमा भारती को फिर आगे कर उनके फोटो बेनरों पर चिपका दिए।

सांसद सिंधिया ने ग्राम गुढा में सभा के दौरान कहा इस सरकार में किसान भी परेशान है नौजवान भी परेशान है और जवान भी परेशान है। यह कैसी सरकार है जिस सरकार कि पुलिस मंदसौर में किसानो पर सरेआम गोलियां चलवाती है ओर उसके बाद शिवराज सिंह चैहान किसान हित का ढोंग करते है। किसानो को निर्वस्त्र करके थाने में पीटा जाता है। यह किसान का अपमान नही है। प्रदेश में किसान आत्महत्या करते जा रहे है और यह सरकार चुप्पी साधे बैठी है। आपने व्यापारियो को ठगा, आम जनता को ठगा, किसानो को ठगा यह जनता आपको मांफ करने वाली नही। यह सरकार महिलाओ कि बात करती है। तो आखिर ऐसा क्युं है कि महिला अत्याचारो को प्रदेश नंबर बन पर पहुंच गया। महिलाओ पर बढ़ते अपराधो से आपके मांथे पर चिंता कि लकीरे नही आती यह शर्म का विषय है।

सांसद सिंधिया ने आगे कहा मेंने अपने प्रयासो से गांव गांव खंबे लगवाए, तारो कि लाइन बिछवाई लेकिन इस सरकार ने उन तारो में अभी तक करंट नही डाला आज गांव गांव में मेरे पास जिस सडक कि मांग कि हमने डलवाई हमने हमेशा जनता का भला चाहा लेकिन यह सरकार हमेशा क्षेत्र कि जनता के साथ सौतेला व्यवहार किया है। यह अपने और परायो का फरक जानती है यह जो प्रवासी पक्षी फिर रहे है यह काम निकलते ही उड जाऐंगे। सांसद सिंधिया के साथ महेन्द्र यादव, नगर परिषद अधयक्ष रविन्द्र शिवहरे, हरिओम रघुवंशी, पवन शिवहरे, धमेन्द्र जैन पल्लन, गोलू गौड आदि लोग शामिल थे।
Share on Google Plus

About Yuva Bhaskar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

0 comments:

-----------

analytics