राजेन्द्र यादव ने कांग्रेस छोड़ी, निर्दलीय चुनाव लड़ेंगे

शिवपुरी। विगत 25 वर्षो से तन-मन-धन के साथ सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया एवं कांग्रेस पार्टी के निर्देशों को शिरोधार्य करने वाले वार्ड नं.17 लुधावली निवासी राजेन्द्र यादव ने कांग्रेस से अपना नाता तोडऩे का ऐलान कर दिया और प्राथमिक सदस्यता से भी वह अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ इस्तीफा देंगें। इस दौरान उनके साथ पोलिंग बूथ कार्यकर्ता व अन्य सैकड़ों समर्थकों ने भी कांग्रेस छोडऩे की बात कही है। अब वार्ड नं.17 से कांग्रेस छोड़ निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में राजेन्द्र यादव अपने समर्थकों के साथ चुनाव लड़ेंगें।

अपनी  नाराजगी प्रकट करते हुए एक प्रेस विज्ञप्ति में राजेन्द्र यादव ने बताया कि वह बीते लगभग 25 से अधिक वर्षों से कांग्रेस पार्टी के लिए एक कर्मठ कार्यकर्ता की भांति कार्य करते थे लेकिन इस बार के नगरीय निकाय चुनाव में जब परिसीमन में वार्ड क्रं.16 के स्थान पर वार्ड क्रं.17 बना तो यह सामान्य वर्ग के लिए आरक्षित हुआ, जिस पर मैंनें कांग्रेस पार्टी व पर्यवेक्षकों के समक्ष अपनी दावेदारी जताई लेकिन इस दावेदारी को दरकिनार करते हुए कांग्रेस पार्टी ने एक ऐसे व्यक्ति को टिकिट दिया है जिसका कोई जनाधार हीं नहीं और वह कांग्रेस के कार्यक्रमों में भी ना के बराबर शामिल होता है, ऐसे में यह कृत्य हमारी भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाला रहा, जिससे मैं व हमारे सैकड़ों समर्थक आहत है इसलिए हमने फैसला किया है कि ऐसी पार्टी में रहकर क्यों कार्य किया जाए जो पोलिंग बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं को तवज्जो ना दे, इसलिए अब हम निर्दलीय रहकर चुनाव लड़ेंगें।

राजेन्द्र यादव ने बताया कि उन्होंने कांग्रेस पार्टी में रहकर प्रत्येक विधानसभा, लोकसभा व नगरीय निकाय के चुनावों में पार्टी के लिए महती भूमिका निभाई और इस दौरान वह वार्ड नं.16 से दो बार कांग्रेस के पार्षद भी चुनकर लाए जिसमें स्व. तांतू लाल आदिवासी और छप्पन लाल आदिवासी है जिन्हें पोलिंग बूथ कार्यकर्ताओं की मेहनत से विजयश्री का वरण कराकर कांग्रेस का झण्डा उंचा फहराया, इसके साथ ही हरेक चुनाव में इस वार्ड से कांग्रेस को अन्य दलों की अपेक्षा मतदान के क्षेत्र में बढ़ोत्तरी भी दिलाई। राजेन्द्र यादव ने आरोप लगाए कि कांग्रेस पार्टी अब स्वार्थी तत्वों के लिए कार्य करने लायक रह गई है यहां पोलिंग बूथ स्तर के कार्यकर्ता को जगह ना देना उनके स मान को अपमानित करने जैसा है इसलिए हम अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ कांग्रेस छोड़कर अब निर्दलीय चुनाव मैदान में रहेंगें और भविष्य में किसी भी प्रकार से हम कांग्रेस पार्टी में शामिल नहीं होंगें और रही बात अन्य दलों में शामिल होने की तो यह हमारे विवेक पर निर्भर करता है।

हम अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ कांग्रेस छोडऩे की यह जानकारी फैक्स के माध्यम से पूर्व केन्द्रीय मंत्री व सांसद श्रीमंत महाराज ज्योतिरादित्य सिंधिया को भी भेजेंगें और उनसे अपेक्षा करेंगें कि कांग्रेस में सुधार कर कर्मठ कार्यकर्ता को स्थान दें अन्यथा कांग्रेस को गर्त में जाने से कोई नहीं बचा पाएगा। राजेन्द्र यादव के साथ अन्य कांग्रेस छोडऩें वाले पोलिंग बूथ कार्यकर्ता व समर्थकों में नरेन्द्र भदौरिया, वरिष्ठ कांग्रेसी निजाम खान, गोपाल यादव, मुकेश परिहार, बूथ प्रभारी हि मत सिंह यादव प्रमोद साहू, रहीम खान, गज्जन खान, कमल यादव, मनीश परिहार, सिद्धार्थ, विनोद यादव, सिरनाम आदिवासी, कैलाश आदिवासी, वीरू आदिवासी, राजाराम यादव, धर्मेन्द्र गोस्वामी, बलराम गोस्वामी, इरफान खान, असलम खान, रॉकी वर्मा, देवेन्द्र गोस्वामी, विकास यादव, बृजेश पुरी के अलावा वार्ड नं.16 से सलीम खान, ज्वाला जोशी, श्री भदौरिया, अकबर, भोलू, मंशागिरी, धर्मगिरी व अन्य सैकड़ों समर्थक शामिल है।

Share on Google Plus

About KumarAshish BlogManager

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
-----------

analytics