अपनी 30 कबाडा बसो को स्कूल संचालको ने प्रशासन से छुपाया, गायब रही चैकिंग अभियान से

शिवपुरी। इंदौर बस हादसे के बाद सोकर उठे प्रशासन ने 2 दिवसीय स्कूल बसो का चैंकिग अभियान शुरू किया था। शहर के पोलो ग्राउंड में परिवहन विभाग, शिक्षा विभाग, पुलिस,एसडीएम और बाल आयोग के अध्यक्ष भी निजी स्कूलो की बसो की फिजीकली जांच की। बताया गया है कि इस चैंकिग अभियान में 30 बसे नही आई। यह बसे क्यो चैंकिग अभियान से गायब रही इस सवाल का जबाब अभी किसी के पास नही है। 

इन मानको पर होने थी चैंकिग
स्कुल बसो के रजिस्ट्रेशन, बीमा,ईमरजैंसी विंडो, स्पीड गर्वनर, सीट संख्या, ड्रायवर का लाईसेंस, ड्रायवरो का पुलिस वैरिफिकेशन सहित बसो की बारिकी से जांच होनी थी। 

15 बसो की फिटनिस निरस्त
इस 2 दिन के चैकिंग अभियान में लगभग 160  बसो का निरीक्षण किया जाना था,इनमे से 130 बसे निरीक्षण के लिए पोलो ग्राउंड में पहुंची थी। इनमे से 30  बसो को स्कूल संचालको ने छुपाते हुए बसो को निरीक्षण के लिए नही पहुंचाया। चैंकिग की गई  बसो में से 15  बसो की फिटनिस निरस्त की गई हे। 

इन स्कूलों की 30 बसें नही पहुंची
दोनों दिन के निरीक्षण में जो 30 बसें नही पहुंची है, उनमें से गीता पब्लिक की 1 बस, हैप्पीडेज की 2 बस, हॉलीवार्ड की 2 बस, गुरूनानक की 2 बस, सेंट लुईस की 2 बस, सेंट जाने की 2 बस, प्रज्ञा बाल मंदिर की 1 बस, आदर्श उमावि की 1 बस, सेंट चाल्र्स की 2 बस, सेंट बेनेडिक्ट की 3 बस, एसपीएस की 3 बस, वनस्थली विद्या वैली की 2 बस, इनोवेटिव की 1 बस, संस्कार स्कूल की 1 बस शामिल है। 

बसो के निरीक्षण अभिान के तहत लगभग सभी बसो में कोई न कोई कमी जरूर थी। उनको तत्काल दुरूस्त कराने की हिदायत आरटीओ कंग ने दी। जो निरिक्षण के लिए बसे नही आई उन्है तत्काल सडको से हटाया जाऐगा और उन्है पकडकर थाने में रखा जाऐगा। 
Share on Google Plus

About Yuva Bhaskar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

0 comments:

-----------