एटीएम में पीछे खड़े थे शातिर ठग, चोरी से 16 डिजिट का नंबर देख पार कर दिए 25 हजार

शिवपुरी। शहर के सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र के कमलागंज के पास स्थिति ऐक्सिज बैंक के एटीएम में दो ठगों ने एक कंपनी के सुपरवाईजर के एटीएम का 16 डिजिट का नंबर चोरी कर खाते से 25 हजार रूपए पार कर दिए। इस बारदात की भनक फरियादी को उस समय लगी जब उसके मोबाईल पर बैंक खाते से ट्रांजेक्शन का मैसेज आया। इस बात की शिकायत पीडित युवक ने कोतवाली में की है। पुलिस सीसीटीव्ही फुटेज के आधार पर मामले की जांच में जुट गई है। 

जानकारी के अनुसार बीती रात्रि करीब 8 बजे जीएसटी इनफों लिमिटेड़ कंपनी का सुपरवाईजर हरीकृष्ण पुत्र गोरोटी धनाडिया निवासी उडीसा बीते रात्रि कमलागंज स्थिति ऐक्सिस बैंक के एटीएम में अपनी सेलरी चैैक करने पहुंचा। जहां हरीकृष्ण ने अपने खाते का स्टेटमेंट निकालने का प्रयास किया लेकिन स्टेटमेंट नहीं निकला। 

जब स्टेटमेंट नहीं निकला तो पीछे खड़े दो युवकों ने स्टेटमेंट निकालने में उसकी मदद करने की कहा। जिसपर हरीकृष्ण ने उक्त ठगों को अपना एटीएम कार्ड दे दिया। उसके बाद ठगों ने उसके खाते का स्टेटमेंट निकाला और बताया कि उसके अकाउंट में 32568 रूपए है। 

उसके बाद शातिर ठगों ने एटीएम से 16 अंक के डिजिट चोरी कर उसका पासवर्ड भी चोरों के पास पहुंच गया। जैसे ही हरीकृष्ण घर पहुंचा तो उसने देखा कि उसके खाते से 10-10 हजार और 5 हजार रूपए करके तीन बार में 25 हजार रूपए का ट्रांजेक्शन हो गया है। 

बताया गया है कि एटीएम की पूरी जानकारी मिलने पर आरोपीयों ने इस बारदात को अंजाम दिया है। इस घटना के बाद फरियादी ने पूरे मामले की शिकायत कोतवाली पहुंचकर की। जहां पुलिस एटीएम में लगे सीसीटीव्ही फुटेज को खंगालने में जुट गई है और आरोपीयों की तलाश में जुट गई है। 

इन सात तरीकों को जान लीजिए तो आप एटीएम ठगों के जाल में फंसने से बच सकते हैं -
1. ठग कॉल कर खुद को बैंक का अधिकारी बताते हुए कहेगा आपके एटीएम कार्ड का आज ही नवीकरण करना है। ऐसा नहीं करने पर एटीएम कार्ड बंद हो जाएगा। यह कहकर आपसे आपके एटीएम का पूरा विवरण ले लेगा। आपको उसे जानकारी नहीं देनी है। अपने बैंक से सीधे संपर्क करें।

2. कॉलर आपके पड़ोसी को फोन कर उनके बंद एटीएम को खोलने के लिए आपकी गारंटी लेगा। उसमें आपके एटीएम कार्ड का विवरण मांगेगा। आपके मोबाइल फोन पर वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) भेजकर उसका नंबर पूछेगा। उसे कोई जानकारी नहीं देनी है।

3. कॉलर बैंक के विजिलेंस सेल का अधिकारी बनकर आपके एटीएम कार्ड की क्लोनिंग होने की जानकारी देगा। आपसे एटीएम कार्ड का 16  डिजिट का नंबर पूछेगा। 

4. बैंक अधिकारी बनकर कॉल करने वाला आपका नाम-पता सब बताएगा। आपके साथ पजल खेलते हुए आपको कुछ अंक देगा। उस अंक से आपके एटीएम कार्ड के 16 डिजिट के अंतिम चार अंकों से जोड़-घटाव का गणित कराएगा। उससे बचना है। 

5. बैंकों ने स्पष्ट किया है कि एटीएम कार्ड के बारे में उसके 16 डिजिट के नंबर के बारे में या फिर पासवर्ड जानने के लिए उनकी तरफ से कोई भी कॉल नहीं किया जाता है। लिहाजा ऐसे किसी भी कॉल से परहेज करें।

6. एटीएम रूम में किसी भी तरह के झांसे में फांसकर आपसे कोई आपका एटीएम कार्ड मांगे तो उसे नहीं दें। आपका कार्ड बदलकर उससे रुपये निकाल लिए जायेंगे।

7. आपके एटीएम कार्ड के पीछे कार्ड वेरीफिकेशन वैल्यू कोड होता है। छोट अक्षरों में लिखे कोड की भी जानकारी कॉलर को नहीं दें। 
Share on Google Plus

About Yuva Bhaskar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

0 comments:

-----------