Monday, August 07, 2017

रिश्वत मांग रहा पुलिसवाला बोला: जाओ SP शिकायत से कर दो, वर्दी उतरवाकर दिखाओ

शिवपुरी। फिजीकल थाना पुलिस का एक एचसीएम खुलेआम रिश्वत मांग रहा था। वहां मौजूद मीडियाकर्मियों ने वीडियो बनाया तो एचसीएम ने एक आरक्षक के साथ मिलकर कैमरा छीन लिया और वीडियो रिमूव करने के बाद ही वापस किया। इस दौरान एचसीएम ने मीडियाकर्मियों के साथ अभद्रता की एवं एसपी तक को चुनौती दे डाली कि उनका व्यवहार ऐसा ही रहेगा, जिसमें हिम्मत हो वर्दी उतरवाकर दिखाए। इसके बाद थाने में मीडियाकर्मियों ने काफी हंगामा किया। एसडीओपी जीडी शर्मा ने आकर मामले को शांत कराया एवं कार्रवाई का आश्वासन दिया। 

जानकारी के अनुसार आज दोपहर पुलिस थाना फिजीकल में पुलिस कुछ जुआरीयों को पकडक़र लाई। तभी पत्रकार सतेन्द्र उपाध्याय और रोहित मिश्रा थाने पहुंचे और उक्त मामले की जानकारी ली। तभी उन्हें एक वृद्ध दिखाई दिया जो एक आवेदन देने के लिए थाने में पदस्थ एचसीएम तुलाराम से गुहार लगा रहा था। एचसीएम उक्त वृद्ध से अभ्रदता करते हुए भगा दिया। वृद्ध फिर निवेदन करते हुए आवेदन लेने की गुहार लगा रहा था तो एचसीएम ने उक्त मामले में 500 रूपए की मांग करने लगा। यह देख पत्रकार सतेन्द्र उपाध्याय ने वीडियो शूटिंग शुरू कर दी। 

तभी अचानक इस मामले की वीडियों ग्राफी की भनक आरक्षक सुरभी शर्मा को लग गई और उसने आकर पत्रकार का मोबाईल छिना लिया। जब इस मामले की जानकारी मीडियाकर्मियों को लगी तो वह थाने पहुंच गए। अजीब बात यह हुई कि जब पत्रकार संघ के पदाधिकारी थाने पहुंचे और मामले की जानकारी ली तो एचसीएम तुलाराम बौखला उठा और एसपी को सीधी चुनौती देते हुए कहने लगा कि जाओ, एसपी से शिकायत कर दो, जिसमें हिम्मत हो मेरी वर्दी उतरवाकर दिखाए। यह बयान तुलाराम ने मध्यस्थता कर रहे पत्रकारों के बीच कई बार दोहराए।

इसके बाद मीडियाकर्मी थाना परिसर में ही बैठ गए और पूरे घटनाक्रम की सूचना पुलिस अधीक्षक को दी। पुलिस अधीक्षक ने मामले को गंभीरता से लेते हुए तत्काल एसडीओपी जीडी शर्मा को फिजीकल थाने भेजा। जहां एसडीओपी जीडी शर्मा ने उक्त पुलिसकर्मीयों पर 2 दिन में कार्यवाही करने का आश्वासन दिया। उसके बाद मीडियाकर्मी शांत हुए। 

No comments:

Post a Comment

प्रतिक्रियाएं मूल्यवान होतीं हैं क्योंकि वो समाज का असली चेहरा सामने लातीं हैं। अब एक तरफा मीडियागिरी का माहौल खत्म हुआ। संपादक जो चाहे वो जबरन पाठकों को नहीं पढ़ा सकते। शिवपुरी समाचार आपका अपना मंच है, यहां अभिव्यक्ति की आजादी का पूरा अवसर उपलब्ध है। केवल मूक पाठक मत बनिए, सक्रिय साथी बनिए, ताकि अपन सब मिलकर बना पाएं एक अच्छी और सच्ची शिवपुरी। आपकी एक प्रतिक्रिया मुद्दों को नया मोड़ दे सकती है। इसलिए प्रतिक्रिया जरूर दर्ज करें।