भीम आधार एप को बनाया ठगी का जरिया, सिम के नाम पर निकाल रहे है रूपए

अभिषेक शर्मा, पोहरी। जिले के पोहरी थाना क्षेत्र में इन दिनों भीम एप के जरिए लोगों के साथ ठगी की शिकायतें लगातार आ रही है। जहां गांव गांव जाकर लोग भीम एप के नाम पर सिमों की बिक्री कर लोगों से रूपए ऐठ रहे है। हम बात कर रहे है शिवपुरी जिले की पोहरी तहसील व उसके ग्रामीण क्षेत्र के गरीब ग्रामीण जनता की ,भारत सरकार ने जनता की सुविधा के लिए भीम आधार एप्प लॉच किया था जिसे डिजिटल इण्डिया के माध्यम से पैसे का लेन देन करे  इस लिया भीम आधार एप्प के जरिए लोगो ने क्षेत्र की जनता को लूटना चालू कर दिया है।

जानकारी के अनुसार पोहरी तहसील में ग्रामीण क्षेत्रो में गांव-गांव जाकर सिम बिक्री जा रही है। भोली भली जनता को सिम बिकने के नाम पर उसके आधार कार्ड न को भीम आधार एप्प में डाला जाता है अंगूठा लगाकर उसके खाते से पैसे ट्रांसफर कर लिए जाते है। वही गरीब भोलीभाली ग्रामीण लोग अशिक्षित होने के कारण इस ऐप के जरिये ठगी का शिकार हो रहे है।

ऐसा मामला आज पोहरी थाने में आया जहा ठगी का शिकार हुई महिला द्वारा बताया गया कि दिनांक 15 जुलाई को दो-तीन अज्ञात लड़के आये और बोले 10 रुपए में वोडाफोन सिम ले लो तुरंत चालू हो जायेगी ओर उसने मशीन पर मेरा अंगूठा लगाया वोडाफोन की सिम तो चालू हो गयी सिम बिकने वाले वहां से चले गए जब आज मेने बैंक आ कर मेरे विकलांग पेंशन निकलने आये और पासबुक में एंट्री कराई तो पता चला कि 15 जुलाई को मेरे खाते से 200 रूपए निकल गए जो किसी व्यक्ति संतोष बराई के खाते में गए हुए है। यदि पुलिस द्वारा इस मामले की जांच सही प्रकार से की गई तो पोहरीं क्षेत्र में सक्रिय सिम गिरोह के खाते में लाखों रुपए की ठगी उजागर होगी। 

गांव-गांव में सक्रिय सिम बिक्रेता-पोहरी में टेलीकॉम कंपनी द्वारा अपने टारगेट पूरा कराने के लिए गांव-गांव सिम बिकवाने का काम करा रही है जिससे टारगेट पूरा हो सके बही कुछ शातिर लोगो द्वारा ग्रामीण क्षेत्र की अशिक्षित लोगो को सस्ती सिम दे कर उनके खाते से रुपए अपने खाते में ट्रांसफर कर रहे है। ऐसे में ये ठगी के गिरोह क्षेत्र में सक्रिय हो गया है।

डिजिटल इंडिया के नाम पर लोगो से हो रही ठगी
प्रधानमंत्री द्वारा भारत को डिजिटल इंडिया बनाने के लिए ऑनलाइन सॉफ्टवेयर तैयार किया गया जिससे लोगो को बैंक में लाइन लगाने की बजह आसानी से पेमेंट हो सके लेकिन पोहरी क्षेत्र में शातिर ठगों द्वारा लोगो के एकाउंट से लगातार ठगी कर रहे है,इस ठगी का लोगो को अपनी पासबुक में एंट्री कराने के बाद पता चलता है।

ठगी के नाम पर पुलिस नही करती कोई कार्रवाई
पोहरी क्षेत्र में सिम बेचने के वाहने शातिर लोगो द्वारा बहुल्य आदिवासी क्षेत्र में अशिक्षित लोगों से ठगी की जा रही है। ऐसे में जब पुलिस को इस ठगी के बारे में सूचित किया जाता है तो पुलिस द्वारा उन लोगो पर कार्यवाही की बजह जांच की बात करके मामले को रफा दफ़ा करने में जुट जाती है। ऐसे में पुलिस का निष्क्रिय होना पोहरी क्षेत्र में ऑनलाइन ठगो को बढ़ाबा दे रहे है।

इन गांव में सक्रिय है ठगी कर्ता
ऑनलाइन ठगी का सक्रिय गिरोह पोहरी क्षेत्र के छर्च, बिलौआ , महदेवा , बगलोन , पोहरी , जखनौद , नायगांव , सोनीपुरा , झिरी , झलवासा ,मारोरा , परिच्छा , सहित अन्य गांव में ये गिरोह सक्रिय है।

इनका कहना है कि
पोहरी में अगर लोगो के साथ ऑनलाइन ठगी की जा रही है तो उन लोगों पर करवाई की जाएगी।
सुनील कुमार पांडेय, पुलिस अधीक्षक शिवपुरी

मेरे साथ 15 जुलाई को सिम चालू करने के बहाने एक लड़के के द्वारा मेरे खाते से 200 रुपए निकाल लिए। आज बैंक में मेरी विकलांग पेंशन निकलने आयी तो पता चल की पैसे तो निकल लिए इसकी शिकायत मेने पोहरीं थाने में की है। 
बिनद्रा बाई जाटव पीडि़त

महिला का आवेदन आया है जिसे  हम जांच कर रहे है कारवाई की जाएगी
बी डी अहिरवार, थाना प्रभारी पोहरी
Share on Google Plus

About Yuva Bhaskar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

0 comments:

-----------