फील्ड में काम और अधूरी सिंध परियोजना मेरी पहली प्राथमिकता: नवागत कलेक्टर राठी

शिवपुरी। कलेक्टर के रूप में मैैं स्वयं अधिक से अधिक दौरे करूंगा और चाहूंगा कि मेरे अधीनस्थ अधिकारी भी फील्ड में जाकर जन समस्याओं से रूबरू हों ताकि शासकीय योजनाओं का ठीक ढंग से क्रियान्वयन हो सके। आज ही मैं एक दो गांव में जाकर जमीनी हकीकत देखूंगा। उक्त उदगार नवागत कलेक्टर तरूण राठी ने आज पदभार ग्रहण करने के बाद कलेक्ट्रेट में पत्रकारों से चर्चा करते हुए व्यक्त किए।

कलेक्टर ने आगे जोड़ा कि यदि हमारे दौरे से विद्यार्थियों को मध्यान्ह भोजन मिल जाता है, मरीजों को उचित उपचार प्राप्त हो जाता है और कुपोषित बच्चों और महिलाओं को पोषण आहार मिल जाता है तो न केवल शासकीय योजनाओं का भौतिक सत्यापन प्रशासन का मकसद पूर्र्ण हो जाता है। पत्रकार वार्ता में अतिरिक्त कलेक्टर नीतू माथुर भी उपस्थित थीं।

एक सवाल के जवाब में कलेक्टर राठी ने बताया कि सिंध का पानी शिवपुरी लाना और सडक़ों का निर्माण करना उनकी सर्वोच्च प्राथमिकता है। जब उनसे पूछा गया कि सिंध जलावर्धन योजना की एजेंसी दोशियान और सडक़ बनाने वाले ठेकेदार को निवर्र्तमान कलेक्टर ओपी श्रीवास्तव ने 30 जून की डेड लाईन दी थी ताकि बरसात के पूर्व उक्त कार्य पूर्ण हो सके। लेकिन संबंधित ठेकेदार काम को लटकाने के लिए बरसात होने का इंतजार कर रहे हैं इस पर कलेक्टर ने जवाब दिया कि वह योजनाओं की समीक्षा कर उचित निर्णय लेंगे। 

पूर्ववर्ती कलेक्टर ओपी श्रीवास्तव ने अच्छे कार्यों को बढ़ाने के लिए वह हर संभव प्रयास करेंगे। विकास की तरफ उनका ध्यान रहेगा। जनसुनवाई के माध्यम से वह जनता से रूबरू होंगे तथा उनके कार्यकाल में जनता एवं प्रेस से प्रशासन के संबंध मधुर रहेंगे। वह चाहेंगे कि उनके अधिनस्थ अधिकारी भी जनता से संवाद स्थापित कर जन समस्याओं को हल करें तथा शासकीय योजनाओं का क्रियान्वयन करें। 

जिला अस्पताल की अव्यवस्थाओं के संबंध में पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि यहां डॉक्टरों के साथ दुर्व्यवहार की घटनायें हो रही है जब उनसे अस्पताल में डॉक्टरों की संख्या बढ़ाने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि शासन स्तर पर यह मामला हल होगा। प्रदेश में डॉक्टरों की कमी है और उनकी मांग अधिक है जबकि पूर्ति कम हो पा रही है। उन्होंने कहा कि सीएमएचओ से आज उनकी इस विषय में विस्तार से चर्चा हुई है। एक अन्य सवाल के जवाब में कलेक्टर ने कहा कि आज से सरकारी मूल्य पर आठ रूपए किलो के हिसाब से प्याज की खरीदी शुरू हो गर्ई है। उन्होंने सबसे पहले इस बाबत निर्देेश देकर प्याज की खरीदी शुरू करवार्ई है। 

मिलजुल कर करेंगे अच्छा काम
कलेक्टर तरूण राठी ने बताया कि शिवपुरी में अधिकारियों की अच्छी टीम उन्हें मिली है और हम सब मिलकर अच्छा काम करेंगे। अधिकारियों को उन्होंने निर्देश दिए हैं कि सकारात्मक ढंग से कार्य करें और सकारात्मकता ढूंढकर उसके पीछे हमें चलना होगा। 

कलेक्टर ने दिया अपना परिचय 
पत्रकार वार्ता में पत्रकारों से परिचय प्राप्त करने के पूर्व कलेक्टर तरूण राठी ने  अपना परिचय दिया। उन्होंने बताया कि वह उत्तर प्रदेश के बुलंद शहर जिले के निवासी हैं और सन् 2009 की यूपीएससी परीक्षा में चयनित होकर आईएएस बने हैं। जब उनसे पूछा गया कि क्या वह आईएएस टॉपर है तो उनका जवाब था कि मेरी रैंक 19 वीं थी और मेरा मानना है कि टॉपर वहीं होता है जिसकी रेंक प्रथम रहती है। उन्होंने बताया कि मध्य प्रदेश कैडर में आने के बाद वह कुछ समय के लिए सारंगपुर एसडीएम फिर राजगढ़ में सहायक कलेक्टर तत्पश्चात बालाघाट में जिला पंचायत सीर्ईओ एवं कलेक्टर के रूप में हरदा में पोस्टिंग हुई परन्तु 24 घंटे के भीतर ही मुझे वापस बुला लिया गया और शिवपुरी चार्ज लेने के पूर्व मैं मार्ईनिंग विभाग में उप सचिव के पद पर पदस्थ था। शिवपुरी में कलेक्टर के रूप में मेरी पहली पदस्थापना है। 
Share on Google Plus

About Yuva Bhaskar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.