Thursday, January 19, 2017

बच्चे डांस की प्रैक्टिस कर रहे थे, करैरा में बबाल मच गया

शिवपुरी। करैरा से एक वीडिय़ो सोशल मिडिय़ा पर वायरल हुआ है। इस वीडिय़ो में दिख रहा था कि ऑटो में 2 नाबालिग बच्चियो को पुलिस कर्मी जबरिया बैठा रहे थे। और इनके साथ दो नाबालिग लडके भी दिख रहे है। 

साथ में यह खबर आ रही थी कि 2 नाबालिग जोडे को पुलिस ने अपत्ति जनक अवस्था में पकडा है और इनसे वसूली कर छोड दिया। पुलिस कर्मियो ने इन नाबालिग लडकियो के साथ अभद्रता की है। इस वीडिय़ो में नाबालिग लडक़ी के साथ अभ्रदता करते भी दिखाई दे रहा है। 

सोशल मिडिया पर जारी इस वीडिय़ो में नाबालिग लडकियो के चेहरे स्पष्ट दिखाई दे रहे थे। और पुलिस कर्मियो के भी। परन्तु इस मामले में करैरा पुलिस का कहना है कि उक्त वीडियो में जो पुलिस कर्मी दिखाई दे रहे है वे हमारे नही है। 

इस मामले में करैरा एसडीओपी आईपीएस अनुराग सुजानिया का कहना है कि महुअर नदी के पुल के पास स्थित घर में कुछ बच्चे स्कूल के प्रोग्राम की तैयारी कर रहे थे। तभी किसी ने पुलिस को सूचना दी की इस घर में कुछ अपत्तिजनक चल रहा है। 

मोहल्ले वालो ने इनको वही पकड लिया और ऑटो में बैठाकर थाने ले जाने लगे तभी वहां पुलिस भी आ गई वह इन्है ऑटो में ले जाकर थाने ले जाने लगे। चूकि बच्चे नाबालिग थे इस कारण इनके परिजनो को सौपा जाना था लेकिन बीच रास्ते में इनके परिजन आ गए और इन्है ले गए। 

यह मामला नाबालिग बच्चियों से जुडा हुआ था बताया गया था कि इनकी किसी ने क्लिीपिंग भी बना ली है। और ज्यादा बबडंर न हो इस कारण रास्ते में ही इनके परिजनो के आ जाने से इन्है इनकी सुपर्दगी में दे दिया गया। 

इनका कहना है कि 
बिना किसी तथ्यो को जांच परखे किसी भी नाबालिग बच्ची का वीडिय़ो सोशल मीडिया पर वायरल करना अपराध है। इस क्लीपिंग को वायरल करने वाले पर मामला दर्ज किया जाऐगा। अब यह वीडिय़ो कहा से कैसे और किसने वायरल किया है आईटी सेल इसकी जांच में लगी हुई है। 
आईपीएस अनुराग सुजानिया एसडीओपी करैरा