Ad Code

शिवपुरी पुलिस के गाल पर दतिया पुलिस का तमाचा | Shivpuri News

शिवपुरी। शिवपुरी जिले की पुलिस ने लिए परेशानी का सबब बनी खनियाधाना के राजमहल से सोने के कलश चोरी के मामले में पुलिस ने हर संभब जगह हाथ पैर मारे। परंतु हर बार की तरह इस बार भी पुलिस के हाथ खाली रहे। परंतु दतिया पुलिस ने महज छोटी सी चोरी में उक्त आरोपीयों को हिरासत में ले लिया है। जब आरोपीयों से पूछताछ की तो आरोपीयों ने खनियांधाना में हुई चोरी कबूल कर ली। इस मामले को ट्रेस कर दतिया पुलिस ने शिवपुरी पुलिस के गाल पर तमाचा मारा है।

विदित हो कि 9 माह पूर्व खनियाधाना राजमहल के अंदर स्थित रामजानकी मंदिर की गुम्बद से 50 किलोग्राम का सोने का कलश चुराने वाले तीन चोरों को दतिया जिले की सिविल लाइन पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पकड़े गए चोरों ने पिछोर व खनियाधाना के मंदिरों में हुई चोरियों को भी स्वीकारा है। मामले में इस बात का भी खुलासा हुआ है कि पकड़े गए चोरों ने खनियाधाना के एक युवक से वहां रैकी कराई थी और उसी के बुलाने पर चोर वहां पहुंचे थे। जिनकी संख्या 6 थी। पुलिस ने तीन चोरों को गिरफ्तार कर लिया है और उनसे पुलिस ने पिछोर के मंदिर में हुई चोरी का माल और 1200 रूपए बरामद कर लिए हैं। जबकि शेष तीन आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है। जबकि चोरों से कलश की बरामदगी नहीं हो सकी है। 

ज्ञात हो कि 25 जुलाई को खनियाधाना के राजमहल से 15 करोड़ रूपए कीमत का सोने का कलश चोरी हो गया था। उस समय कस्बे में पुलिस के खिलाफ काफी आक्रोश उत्पन्न हुआ था और लोगों ने बाजार बंद कर अपना विरोध जताया था। लेकिन इसके बाद भी शिवपुरी पुलिस कलश चोरी के मामले में खाली हाथ ही रही और कल दतिया पुलिस ने तीन चोर पवन पुत्र नाथूराम पण्डित निवासी बीकर, विनोद पुत्र चरणदास अहिरवार निवासी मुम्बई, अजय पुत्र पूरन पटवा निवासी मुम्बई को पकड़ा। पुलिस को उक्त चोरों की तलाश दतिया के  परशुराम मंदिर में हुई चोरी के मामले में तलाश थी और पुलिस ने कल उन्हें गिरफ्तार कर लिया। 

जिन्होंने पूछताछ में दतिया सहित पिछोर के बीजासेन मंदिर और खनियाधाना के टेकरी हनुमान मंदिर व राजमहल के रामजानकी मंदिर की चोरियों को कबूल किया। जिसकी सूचना दतिया पुलिस ने शिवपुरी पुलिस को दी तो शिवपुरी पुलिस उक्त चोरों को पूछताछ के लिए शिवपुरी लाने की जुगत में जुट गई है। वहीं पकड़े गए चोरों की निशानदेही पर उनके अन्य साथियों की तलाश भी पुलिस ने शुरू कर दी है।