SP ने पटेवरी में आयोजित किया चलित थाना, सुनी ग्रामीणोें की समस्या | Shivpuri News

शिवपुरी। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शिवपुरी राजेश हिंगणकर द्वारा चलाये जा रहे चलित थाने की श्रृंखला में पुलिस थाना बैराड़ के ग्राम पंचायत रायपुर के ग्राम पटेवरी में चलित थाने का आयोजन किया गया जिसमें ग्राम पंचायत रायपुर के ग्राम पटेवरी, रायपुर एवं सकतपुर, आकुर्सी, खटका, भैराना, उंची खरई, अल्लापुर, वालापुर, सिलपुरी के अनेक ग्राम वासियों द्वारा अपनी-अपनी समस्यायें पुलिस अधीक्षक को बताई गयीं।

जिसमे पुलिस अधीक्षक द्वारा ग्राम वासियों की समस्याओं का मौके पर ही निराकरण किया गया। इस चलित थाना शिविर में 100 आवेदकों द्वारा अपनी अलग-अलग समस्याओं को लेकर आवेदन पंजीबद्ध कराये गये जिसमें राजस्व से संबंधित 17,बिजली विभाग से संबंधित 10,पंचायत विभाग से 40, वन विभाग 01, स्वास्थ्य विभाग से 3 एवं गैस एैजेंसी से संबंधित 1 शिकायती आवेदन पत्र प्राप्त हुये। जिसमें वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शिवपुरी की उपस्थिति में 17 प्रकरणों का मौके पर ही निकाल करवाया गया।

इस अवसर पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक राजेश हिंगणकर द्वारा अपने उद्बोधन में चलित थाने की उद्येश्य के बारे में बताया गया कि एक गरीब, पीड़ित व्यक्ति को न्याय दिलाना ही हमारा उद्येश्य है उनकी आंखों में देखकर लगता हे कि वह बहुत परेशान है एैसे पीडित एवं व्याक्तियों जिनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है वह आवेदन टाईप का खर्चा अैर पुलिस अधाीक्षक कार्यालय आने का खर्चा आदि नहीं उठा सकते उनके लिए पटेवरी चलित थानें में अवेदन टाईप कराने की व्यववस्था निशुल्क की गई है जिससे उन पर आर्थिक भार न आये । 

पीड़ित और गरीबों को न्याय दिलाना ही हमारा मुख्य उद्येश्य है हमारा यह लगातार प्रयास रहेगा कि गाँव-गाँव जाकर चलित थाना लगाकर लोगों की समस्याओं का निराकरण मौके पर ही करें, ताकि गरीब जनता कोे उचित न्याय मिल सके एवं लोगों की शिकायतों का मौके पर ही दोनों पक्षों की काउन्सिलिंग करवाकर उसका निराकरण किया जा सके यदि अपराध पंजीबद्ध करने की आवश्यकता हुई तो मौके पर ही शून्य पर अपराध कायम किया जायेगा। 

साथ ही साथ आमजन को यह संदेश भी दिया कि कभी किसी के झांसे में मत आना कोई भी व्यक्ति हो किसी को अपने बैंक एकाउंट एटीएम की जानकारी न दें और न हीं ए.टी.एम. संबंधी कोई जानकारी जैेसे पासवर्ड ए.टी.एम. नंबर किसी को बताऐं। 

100 डायल वाहन की उपयोगिता के बारे में समझााया। 

जुआ-सट्टा पर तत्काल पाबंदी लगान हेतु कहा गया और बताया गया कि पुलिस के साथ-साथ जनप्रतिनिधि भी इस कार्य में पुलिस का सहयोग कर ग्राम वासियों को जुआ-सट्टा न खेलने बावद समझाइस दी ।

आवेदिका बुद्धि प्रकाश पुत्र रामभरोसे शर्मा द्वारा एक लिखत आवेदन दिया गया जिसमें अनावेदक रामेश्वर रजक द्वारा आवेदक की दुकान की सामने गुमटी,पथ्थर एवं बोल्डर डालकर जबरदस्ती कब्जा करने की कोशिस की गई है प्रार्थी के पास उक्त भूमि पेपर रजिस्ट्री एवं खसरा खतोनी में नाम अंकित है व न्यायालय द्वारा भी अनावेदक की दुकान हटाने के लिए कहा गया है जिस पर से वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा मामले को गंभीरता से लेते हुए थाना प्रभारी बैराड़ को आवश्यक कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया। 

आवेदक नकटूराम जाटव निवासी रायपुर द्वारा बताया गया कि कुछ लोगों द्वारा मेरा आम रास्ता रोक रखा है उसे खुलवाने संबंधी आवेदन दिया जिसमें वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा पटवारी को बुलवाकर नपती करवाकर निराकरण करने हेतु आदेशित किया गया।

सोनेराम पुत्र बाबूराम जाटव निवासी पचीपुरा बाँध डूब में गई जमीन का मुआवजा दिलवाने हेतु आवेदन दिया जिसमें वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शिवपुरी द्वारा आवेदक को उसकी जमीन का मुआवजा दिलवाने हेतु तत्काल कलेक्टर शिवपुरी को पत्र लिखकर कार्यवाही करने हेतु बताया गया।

आवेदक दयानन्द पुत्र नारायणलाल शर्मा निवासी टोरिया द्वारा बताया कि अनावेदक राधे और मेरा खेत पास-पास है राधे मेरी पकी फसल में से गाड़ी निकालता है जिससे मेरी फसल में नुकसान हो रहा है मना करने पर गालीगलौज एवं मारपीट पर उतारू हो जाता है जिस पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा दोनों पक्षों को बुलवाकर काउंलिंग करवाकर दोनों पक्षों की सहमति से सुलह करवाई गई व भविष्य में फसल में से गाड़ी न निकालने हेतु कहा गया।

आवेदिका रूबिना ने आवेदन दिया कि मेरा पति मुझसे आये दिन गालीगलौच और मारपीट करता है व मेरे मायके भी बात नहीं करने देता है जिस पर से वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा दोनों पति-पत्नी की काउंसलिंग करवाकर राजीनामा करवाया गया।

आवेदक पुरूषोत्तम शर्मा निवासी पिपरौदा कटारा द्वारा बताया गया कि मेरे पिताजी के निधन के उपरान्त उनके नाम से शस्त्र लाईसेंस था उसे मेरे नाम पर किया जावे जिस पर से वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा फौती लाईसेंस के आवेदन पर अनुशंसा कर जिलाधीश की ओर अग्रेसित किए गया एवं प्रत्येक चलित थाने में फौती लाईसेंस हेतु आवेदन लिए जावेंगे और उन आवेदनों को जिलाधीश को अनुशंसा सहित मौके से ही अग्रेसित किया जावेगा।

बैकों से संबंधित की-ओस्क संचालकों द्वारा किसानों के साथ धेखाधड़ी कर पैसे निकालने संबंधी शिकायतें मिलने से कि-ओस्क संचालाके के विरूद्ध आपराधिक प्रकरण पंजीबद्ध करने हेतु संबंधित थाना प्रभारियों को आवश्यक कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया।

आवेदक मोहन सिंह पुत्र रामरतन यादव निवासी पटेवरी द्वारा बताया कि जंगली जानवरें द्वारा उसकी फसल को नुकसान पहुँचाया जा रहा है जिस पर से वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा फोरेस्ट विभाग को जंगली जानवरों से किसानों की फसल का नुकसानी पंचनामा बनाने के निर्देश दिए।

ज्यादातर आवेदन जमीन संबंधी विवाद, सार्वजनिक रास्ता रोकने संबंधी प्राप्त हुए जिनमें वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा दोनों पक्षों को समझाइश देकर दोनों पक्षों में सुलह करवाई गई।

इस अवसर SDOP पोहरी दिनेश सिंह बेस ,थाना प्रभारी बैराड़ आलोक सिंह भदौरिया, थाना प्रभारी गोवर्धन उनि. गब्बर सिंह गुर्जर, वन विभाग के डिप्टी रेंजर रामजी सिंह जादौन, बिजली विभाग के जे.ई. आलोक कुमार, प्रदेश कार्यकारणी सदस्य केशव सिंह तोमर गुरीच्छा एवं अनुविभाग का बल के सैकड़ों आवेदक उपस्थित रहे।

Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

-----------

analytics