घुमक्कड़ जनजाति के प्रमाण पत्र न बनाए जाने पर पाल समाज में रोष, सौंपा ज्ञापन | Shivpuri News

शिवपुरी। म.प्र. सरकार के गजट नोटिफिकेशन के बाद भी जिले में पाल बघेल समाज के घुम्मकड़ जनजाति के प्रमाण पत्र नहीं बनाए जाने से समाज में रोष की स्थिति है। इस समस्या को लेकर आज पाल बघेल समाज के लोगों ने जिलाध्यक्ष एडव्होकेट रामस्वरूप बघेल के नेतृत्व में जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंप इन प्रमाण पत्रों को बनवाए जाने की गुहार लगाई। ज्ञापन के माध्यम से समाज बंधुओं ने बताया कि म.प्र. सरकार की केबिनेट ने 4 अक्टूबर 2018 को पाल बघेल समाज को विमुक्त, घुमक्कड़ एवं अर्द्धघुमक्कड़ की सूची क्रमांक 30 पर पूर्व से अंकित जाति धनगर की उपजाति के रूप में पाल बघेल सम्मिलित करने का प्रस्ताव पास किया था। 

पाल बघेल समाज चूंकि धनगर जाति की ही उपजाति है इसलिए इस सम्बन्ध में केबिनेट के फैसले के बाद राज्यपाल के द्वारा हस्ताक्षरित आदेश भी अक्टूबर माह में ही जारी हो चुका है और इस सम्बन्ध में गजट नोटिफिकेशन भी हो चुका है। शिवपुरी कलेक्टर द्वारा भी 18 अक्टूबर 2018 को सभी अनुविभागीय अधिकारी एवं समस्त तहसीलदारों को प्रमाण पत्र बनाए जाने के आदेश जारी किए गए थे। कलेक्टर के इस आदेश के बाद भी शिवपुरी जिले में पाल बघेल समाज के लोगों के प्रमाण पत्र नहीं बनाए जा रहे हैं जिसके सम्बन्ध में आज प्रशासन को ज्ञापन सौंपा गया। 

समाज के लोगों का कहना था कि यदि प्रशासन द्वारा प्रमाण पत्र नहीं बनाए जाते तो समाज आंदोलन के लिए बाध्य होगा। आज ज्ञापन सौंपने वालों में पाल समाज के जिलाध्यक्ष एडव्होकेट रामस्वरूप बघेल, एडव्होकेट अमृतलाल बघेल, अजब सिंह बघेल, भान सिंह बघेल, हरिचरण पाल, हरिसिंह बघेल, तोरन सिंह पाल, शिवचरण बघेल, गोपाल बघेल श्रीलाल पाल,, बारलेस पाल, अमरसिंह पाल, मनीराम पाल, जसवंत पाल, जगन सिंह बघेल, होतम बघेल, बलवीर बघेल, नरेन्द्र बघेल, प्रकाश पाल, परसादी पाल, सीताराम पाल, भगवान सिंह बघेल, गोविन्द पाल, नीरज पाल, दीपक पाल, आशु पाल, रवि पाल, राकेश पाल, रघुवीर पाल, शिवराज पाल, मोहन सिंह बघेल, दीवान सिंह बघेल, मनोज पाल, नेपाल सिंह बघेल आदि शामिल थे। 

Comments

Popular posts from this blog

Antibiotic resistancerising in Helicobacter strains from Karnataka

जानिए कौन हैं शिवपुरी की नई कलेक्टर अनुग्रह पी | Shivpuri News

शिवपरी में पिछले 100 वर्षो से संचालित है रेडलाईट एरिया