Ad Code

किसान गेहूं उपार्जन हेतु जिले के किसी भी केन्द्र पर अपना पंजीयन कराए, अंतिम तिथि 23 फरवरी | Shivpuri News

शिवपुरी। कलेक्टर अनुग्रहा पी ने रबी विपणन वर्ष 2019-20 हेतु शासन द्वारा घोषित समर्थन मूल्य पर गेहूं के उपार्जन हेतु कृषकों के पंजीयन की समीक्षा करते हुए कहा कि अभीतक किसानों द्वारा गेहूं उपार्जन हेतु जो पंजीयन कराया गया है, वह संतोषजनक नहीं है, इसके लिए किसानों को विभिन्न माध्यमों से जानकारी प्रदाय करने के साथ कृषि ग्रामीण विस्तार अधिकारियों के माध्यम से किसानों के पंजीयन कराए। 

कलेक्टर ने उक्त आशय के निर्देश आज जिलाधीश कार्यालय के सभाकक्ष में शासन द्वारा घोषित समर्थन मूल्य पर किसानों द्वारा गेहूं उपार्जन हेतु कराए जा रहे पंजीयन कार्य की समीक्षा बैठक में दिए। बैठक में अपर कलेक्टर अशोक कुमार चौहान, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री राजेश जैन उपस्थित थे। 

कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा पी ने शासन द्वारा घोषित समर्थन मूल्य पर जिले में अभी तक लगभग 3 हजार से अधिक किसानों के पंजीयन पर अप्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि इस कार्य में गति लाए। अतः किसानों को विभिन्न माध्यम से जानकारी प्रदाय कर उन्हें बताया जाए कि जिले में बनाए गए 28 उपार्जन केन्द्रों में से किसी भी केन्द्र पर जाकर वह अपना पंजीयन करा सकते है। 

इसके लिए आवेदन पत्र पंजीयन केन्द्रों पर निःशुल्क उपलब्ध है। कृषकों को पंजीयन हेतु निर्धारित आवेदन पत्र के साथ आधार नम्बर, समग्र परिवार आईडी तथा मोबाइल नम्बर, राष्ट्रीयकृत अथवा शेड्यूल्ड बैंको में स्वयं का एकल खाता नम्बर (संयुक्त खाता मान्य नहीं), बैंक ब्रांच का नाम, आईएफएससी कोड तथा बैंक पासबुक की छायाप्रति, भूमि खाते-खसरा, ऋण पुस्तिका वनाधिकार पट्टे आदि के दस्तावेजी साक्ष्य की प्रति, भूमि स्वयं के नाम पर न होने पर भू-स्वामी के साथ निर्धारित प्रारूप में सिकमी/बटाई अनुबंध की प्रति आवश्यक रूप से साथ में संलग्न करनी होगी।

उल्लेखनीय है कि शासन के निर्देशानुसार जिले में 28 पंजीयन केन्द्रों पर प्रातः 09 बजे से शाम 07 बजे तक रविवार एवं शासकीय अवकाश छोड़कर सभी कार्य दिवसों में पंजीयन का कार्य किया जा रहा है। जिसकी अंतिम तिथि 23 फरवरी 2019 है। तीन अन्य पंजीयन केन्द्रों के प्रस्ताव भी शासन को भेजे गए है। 

कलेक्टर ने जिले के सभी अनुविभागीय दण्डाधिकारियों को निर्देश दिए कि वे अपने अनुभाग के तहत आने वाले केन्द्रों पर जाकर निरीक्षण कर पंजीयन के संबंध में जानकारी लें। शिवपुरी जिले में इस वर्ष रवी फसल सीजन के तहत लगभग 1 लाख 64 हजार हेक्टर क्षेत्र में गेहूं की फसल की बोनी की गई है। जबकि गत वर्ष 71 हजार 480 हेक्टेयर क्षेत्र में ही गेहूं की बोनी हुई थी।