स्वसहायता समूहों द्धारा निर्मित सामग्री का कलेक्टर ने किया निरीक्षण | SHIVPURI NEWS

शिवपुरी। कलेक्टर श्रीमती अनुग्रह पी ने पोहरी जनपद पंचायत मुख्यालय पर स्थित सामुदायिक प्रशिक्षण केन्द्र सहआजीविका भवन पहुंचकर आज एसआरएलएम की महिला समूहों द्वारा संचालित विभिन्न गतिविधियों का अवलोकन कर जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने समूह की महिलाओं से चर्चा भी की। अवलोकन के दौरान जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी राजेश जैन, अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जी.डी.गुप्ता, ग्रामीण आजीविका मिशन के जिला समन्वयक डॉ.अरविंद भार्गव आदि उपस्थित थे। 
कलेक्टर ने महिला समूहों द्वारा निर्मित की जा रही अगरवत्ती, स्कूली बच्चों के लिए गणवेश, सेनेट्री नेपकिन इकाई का भी निरीक्षण कर सराहना की। उन्होंने एसआरएलएम के अधिकारी को निर्देश दिए कि महिला समूहों द्वारा जो सेनेट्री नेपकिन निर्मित किए जा रहे है, उनका विक्रय शासकीय महिला छात्रावासों में भी किया जाए। उन्होंने विद्यार्थियों के लिए गणवेश तैयार कर रहे समूह की महिलाओं से भी चर्चा कर जानकारी ली। 

महिलाओं ने बताया कि एक महिला द्वारा एक दिन में लगभग 25 शर्ट सिलाई का कार्य किया जा रहा है। इस केन्द्र के माध्यम से 25 रूपए प्रति शर्ट प्राप्त होता है। जबकि घर पर शर्ट तैयार करने पर 22 रूपए मिलते है। 

जिला समन्वयक डॉ.भार्गव ने बताया कि महिला समूहों द्वारा गणवेश निर्माण के साथ-साथ अगरवत्ती का निर्माण भी किया जा रहा है। जिसमें राजराजेश्वरी, सिद्धेश्वर एवं आजीविका मिशन की अगरवत्ती ब्राण्ड शामिल है। जिसकी कीमत कम से कम 10 रूपए पैकेट है। उन्होंने बताया कि आजीविका मिशन द्वारा निर्मित अगरवत्तियों की जिले के बाहर भी काफी मांग है। धार्मिक स्थलों के बाहर काउंटर के माध्यम से इन अगरवत्तियों का विक्रय किया जा रहा है। 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

-----------

analytics