Ad Code

Responsive Advertisement

गोली मारकर चौकीदार की हत्या, फिर लाश को 22 किमी दूर जंगल में फेंक आए हत्यारे | karera, Shivpuri News

शिवपुरी। खबर जिले के करैरा थाना क्षेत्र से आ रही हैं कि करैरा तहसील में पदस्थ जुझाई गांव के चौकीदार पिछलें 15 जनवरी से लापता था। आज उसकी लाश अमोला घाटी के जंगल में मिली हैं। लाश पूरी कहानी बया कर रही हैं,कि हत्या गोली मारकर की है और लाश जंगल में फैक गए हैं। हत्या और कही की हैं, और फेंक कही गए हैं, हत्यारो की संख्या कम से कम 3 हैं। 

जानकारी के मुताबिक चौकीदार सुघर सिंह (40) पुत्र विजय सिंह परिहार निवासी जुझाई बाइक लेकर गांव से 15 जनवरी को निकला था। करैरा तहसील कार्यालय पहुंचा। बाइक तहसील में रखने के बाद से लापता था। तहसील में मौजूद युवक आशीष से कहा था कि किसी ने दवा खा ली है। लौटकर आने की बात कही। सुघर सिंह बाहर खड़ी बाइक पर अज्ञात व्यक्ति के साथ बैठकर चला गया। इसके बाद वापस नहीं लौटा। 

परिजनों ने करैरा थाने में सूचना दी थी। तभी से सुघर सिंह परिहार का सुराग नहीं लग रहा था। सुरवाया थाना पुलिस को 19 जनवरी की दोपहर सूचना मिली कि अज्ञात व्यक्ति की लाश अमोला घाटी के पास जंगल में पड़ी है। सूचना पर पुलिस ने शिनाख्त की तो मृतक की पहचान चौकीदार सुघर सिंह के रूप में हुई। 

पुलिस शव लेकर शिवपुरी जिला अस्पताल आई। रात में पीएम में गोली नहीं निशान मिले थे, लेकिन गोली नहीं मिली थी, लेकिन FSL रिपोर्ट में गोली लगना पाया गया। इसलिए आज सुबह मेडिकल कॉलेज की टीम पोस्टमार्टम करेगी। 

एफएसएल प्रभारी डॉ एचएस बरहादिया जांच पड़ताल करने मौके पर पहुंचे। डॉ बरहादिया के मुताबिक हत्या दूसरी जगह कर शव लाकर फेंका गया है। घटना स्थल दूसरा है। वहीं शव जहां मिला है, वहां आसपास भी खून भी नहीं है। घटना स्थल पर बुलेट मिली है, जिससे ऐसा लग रहा है कि किसी ने गोली यहां लाकर फेंकी है। 

क्योंकि उससे पर खून के निशान नहीं हैं। घटना स्थल पर बाइक के पहिए के निशान मिले हैं। ऐसा लग रहा है कि शव को बाइक से लाकर यहां फेंका है। क्योंकि मृतक का जूता व पैर का हिस्सा जला हुआ है, जो बाइक के साइलेंसर से जला प्रतीत होता है। तौलिया पीठ पर बांधी गई है, ताकि जहां गाेली लगी उससे खून न फैले।