भाजपा का सत्ता से कनेक्शन कटते ही बिजली विभाग ने काट दिए शहर मे कई कनेक्शन | Shivpuri News - Shivpuri Samachar | No 1 News Site for Shivpuri News in Hindi (शिवपुरी समाचार)

Post Top Ad

Your Ad Spot

12/14/2018

भाजपा का सत्ता से कनेक्शन कटते ही बिजली विभाग ने काट दिए शहर मे कई कनेक्शन | Shivpuri News

शिवपुरी। मप्र में आम विधानसभा चुनावो के चलते सरकार ने अपने लूट खसोट बिजली विभाग के जनता पर अत्याचार न करने का प्रेशर बना रखा था। चुनाव से पहले सरकार ने बिजली के बिल माफ करने की कई लोकलुभावन स्किम मार्केर्ट में फैकी थी,आज जन ने इसका लाभ भी लिया था,लेकिन अब भाजपा का सत्ता का कनेक्शन कटते ही सरकार का खुले आम लूट करने वाला बिभाग अपने असली रूप में आ गया। आज शहर बिजली विभाग ने अपनी बसूली के लिए कमर कसते हुए 2 दर्जन उपभोक्ताओ के कनेक्शन काटने की खबर आ ही हैं। 

पहले दिन विभाग की इस कार्रवाई के तहत जहां ढाई लाख से अधिक रुपए की वसूली की गई वहीं लगभग दो दर्जन से अधिक बकायादारों के बिजली कनेक्शन काटे गए। बिजली विभाग के इस वसूली अभियान से बकायादार उपभोक्ताओं में भय, घबराहट और हडकंप का माहौल है। 

विघुत वितरण कंपनी ने आज शुक्रवार को शहर के कमलागंज, चीलौद, सईसपुरा, आरकेपुरम, बाबूक्वार्टर रोड सहित  शहरी इलाके में औचक वसूली अभियान चलाया गया। बिजली विभाग की टीमों को देखकर पहले तो लोग समझ नहीं पाए कि आखिर माजरा क्या है, लेकिन जैसे ही विघुतकर्मियों ने ताबड़तोड़ ढंग से बकायादारों के कनेक्शन काटने की कार्रवाई को अंजाम दिया तो अफरा-तफरी का माहौल निर्मित हो गया। विभागीय सूत्रों की मानें तो यह बकाया बिलों की यह वसूली का अभियान आगे भी सत्त रूप से जारी रहेगा।

मप्र विघुत वितरण कंपनी के सहायक यंत्री जे एम श्रीवास्तव ने बताया कि  विभाग के उप महाप्रबंधक राहुल साहू के मार्गदर्शन में बिजली के बकाया बिलों की राशि का अभियान छेड़ा गया है। जिसमें पहले ही दिन युद्ध स्तर पर चलाए गए इस अभियान के तहत  11 लाख 80 हजार रुपए की बकाया राशि में से  दो लाख 57 हजार रुपए बकायादारों से मौके पर ही वसूले गए। इसके साथ ही 25 उन उपभोक्ताओं के कनेक्शन काटे गए जो बिजली की बकाया  राशि जमा करने की स्थिति में नहीं थे। बिजली विभाग द्वारा छेड़े गए बकाया बिलों की वसूली अभियान की टीम में लाइनमेन भगवानलाल यादव, सहयोगी संजय सेन, कमर अहमद सिदिद्की एवं रवि कुशवाह शामिल है।

गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव से पहले संबल योजना के तहत बिजली बिल माफी का काम चरम पर था। इस योजना के तहत जिले  भर में हजारों हितग्राहियों के बड़े-बड़े बिजली बिल माफ कर उन्हें राहत दी गई। 

कंपनी नहीं वसूल पाई पैसा
मप्र विधुत वितरण कंपनी ने बिजली बिलों की बकाया राशि के लिए एक निजी कंपनी फिडको को ठेका दिया हुआ था, लेकिन उक्त कपंनी विभाग के मुताबिक बिजली बिलों की अपेक्षित वसूली में नाकामयाब रही थी। लिहाजा फिडको के असफल होते ही विभाग  ने उक्त कंपनी को टर्मिनेट कर बिजली के बकाया बिलों की वसूली की कमान स्वयं अपने हाथों में ले ली है। चुनाव से फ्री होने के बाद वसूली अभियान की आज शुक्रवार से शुरूआत  कर दी गई है। बिजली बिलों की बकाया वसूली के लिए आज पहले दिन युद्ध स्तर पर छेड़े गए अभियान के तहत विभाग को अपेक्षित सफलता भी मिली।

No comments:

Post Top Ad

Your Ad Spot