Ad Code

Responsive Advertisement

यशोधरा राजे, केपी सिंह और प्रहलाद भारती: पढ़िए किसने कितनी संपत्ति घोषित की | Shivpuri News

शिवपुरी। धनतेरस के शुभ मुहूर्त में सोमवार को प्रत्याशियों ने नामांकन दाखिल किए। शिवपुरी एसडीएम ऑफिस में यशोधरा राजे ने जो नामांकन दाखिल किया है उसमें चल-अचल संपत्ति 8.37 करोड़ रुपए की घोषणा की है। इसमें 88.6 लाख की अचल संपत्ति है। 9 कंपनियों में 3.29 करोड़ रुपए का शेयर है। वहीं दो पैत्रक सहित तीन कंपनियों को 86 लाख रुपए दिए हैं। महिन्द्रा जीप 17.45 लाख रुपए और सोने के 2.78 करोड़ रुपए के जेवर हैं। जबकि साल 2013 में राजे की 5.48 करोड़ की कुल संपत्ति थी। जिसमें 2.81 करोड़ के जेवर, कंपनियों में 1.56 करोड़ रुपए का शेयर और 14 लाख की लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी शामिल थी। व्यक्तिगत व फर्मों को 82.48 लाख रुपए दिए थे। मंत्री यशोधरा के दिल्ली, भोपाल, ग्वालियर और शिवपुरी स्थित कुल 9 बैंक खातों में 13 लाख 61 लाख 848 रुपए जमा थे। अंचल संपत्ति में 46 लाख 50 हजार रुपए लागत की 4 एकड़ जमीन थी। 

केपी सिंह ने नामांकन में अपने नाम 57.09 करोड़ की संपत्ति दर्ज कराई है। जबकि प्रीतम सिंह लोधी की मात्र 58.55 लाख की संपत्ति शपथ पत्र में दर्ज है। वहीं केपी सिंह की पत्नी के नाम 16.65 करोड़ की संपत्ति और प्रीतम सिंह की पत्नी के पासम 8.40 लाख की संपत्ति है। यानी संपत्ति के मामले में पिछोर पूरे जिले में सभी प्रत्याशियों से सबसे आगे हैं। केपी सिंह की भोपाल, ग्वालियर, पिछोर, शिवपुरी में अचल संपत्ति सबसे अधिक 54.99 लाख की है। वहीं आम आदमी पार्टी प्रत्याशी पीयूष शर्मा ने हलफनामे में 18.42 लाख चल और 1.50 करोड़ की अचल संपत्ति दर्ज कराई है। पत्नी के नाम भी 12 लाख की चल व 40 लाख की अचल संपत्ति है। 

पोहरी सीट से चुनाव लड़ रहे विधायक प्रहलाद भारती ने चल-अचल संपत्ति की कीमत 2.43 करोड़ रुपए बताई है। इसमें चल संपत्ति 23.46 लाख रुपए है। जबकि 1.05 करोड़ की कृषि भूमि व 1 करोड़ का मकान सहित 2 करोड़ की अचल संपत्ति है। हाथ में 1 लाख व पत्नी के पास 50 हजार रुपए हैं। 11 लाख की टाटा सफारी गाड़ी, 80 हजार का ट्रैक्टर और 9 लाख की आई-20 कार भी है। पत्नी के नाम कुल 11.13 लाख की चल संपत्ति है। वहीं एसबीआई बैंक से 7 लाख रुपए का वाहन ऋण लिया है। वहीं साल 2013 में 14.67 लाख चल संपत्ति और 51 लाख की अचल संपत्ति के रूप में कृषि भूमि थी। पत्नी के नाम 9.98 लाख की चल संपत्ति के रूप में गहने थे।