Ad Code

लगातार बारिश: जिले की सीमा में बादलो ने डाला डेरा, तालाब फुटा, कई रास्ते बंद



शिवपुरी। पिछले दिनो से हो रही लगातार जलसंकट से जनजीवन बेहाल हो गया हैं।  लगातार बारिश के कारण जहां निचले इलाकों में पानी भर गया है वहीं शिवपुरी के कोलारस में भट्टूआ का तालाब फूट गया है। दूसरी ओर गुंजारी नदी भी उफान पर है। शिवपुरी की द्वारकापुरी में तालाब जैसे हालात बन गए हैं। घरों में पानी भर गया है।  बदरवास इलाके में भी जोरदार बारिश हो रही है। मीट मार्किट की दुकानें पानी में डूब गई हैं। जिले में ताबड़तोड़ बारिश के नतीजे सामने आने लगे हैं। ठंडी सडक़ का नाला उफनने से घरों में पानी घुसने लगा है। महावीर नगर, बैंक कॉलोनी के घरों में भी पानी भर गया है। शाम 4 बजे से लगातार बारिश का यह नतीजा रहा।  कृष्ण पुरम में घरों में पानी भर गया है जबकि एबी रोड कमलागंज में 2 फीट पानी जमा है। 

जिले के कोलारस में जगतपुर और खटीक मोहल्ला के वीच बने रपटे से स्कार्पियो बह गई। स्कार्पियो में सवार किंदर सरदार और उनका नौकर किसी तरह तैरकर बाहर निकले। ये लोग गैस सिलेंडर लेने बैरसिया से कोलारस आए थे । बताया जाता है कि रपटे पर तेज वहाव था। जिले के कोलारस में गुंजारी नदी उफान पर है। नदी का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है। रन्नौद तहसील में भारी बारिश से फिर से बाढ से हालात के आसार हैं। लगातार चार घंटे से बारिश थमने का नाम नही ले रही है। शिवपुरी नगर की वन बिहार कॉलोनी मैं बरसों पुराना बरगद का पेड़ धराशाई हो गया।  

रन्नाौद तहसील में भारी बारिश से फिर से बाढ से हालात के आसार हैं। लगातार बारिश थमने का नाम नही ले रही है। शिवपुरी नगर की वन बिहार कॉलोनी मैं बरसों पुराना बरगद का पेड़ धराशाई हो गया। पेड़ टूटने से हाईटेंशन लाइन भी टूट गई। एक मकान भी क्षतिग्रस्त हो गया। जनहानि नहीं हुई। मौसम विभाग के अनुसार सबसे ज्यादा बादल अभी शिवपुरी के ही ऊपर बने हुए हैं। आगे भी भारी बारिश संभावित है। 

जिले में सबसे खतरनाक हो रही हैं। सिंध के कारण पचावली में सिंध नदी उफान पर हैं। पंचावली के आस-पास कई गांव में नदी अपनी सीमा लांघ कर घरो में घुस रही हैं। तो वही सिंध दी पर बना नरवर-मगरौनी मार्ग पर पुल के ऊपर से पानी निकल रहा हँ। पोहरी क्षेत्र से निकली कई नदिया खतरनाक हो गई हैं।  पोहरी में छर्च इलाके में जाने वाले सारे रास्ते बंद हो गए है। क्षेत्र में सभी नदी.नालों में बाढ़ से पुलों पर से आवागमन ठप हो गया है।