Ad Code

ईमानदारी की पेश की मिसाल: रास्ते में पड़ा मोबाईल लौटाया

शिवपुरी। इमानदारी की कई कहानीयां सामने आती रही रही है। परंतु आज एक युवक ने ऐसा काम किया जिससे ये साबित हो गया कि आज भी इमानदारी जिंदा है। आज एक युवक को रास्ते में एक मोबाईल पड़ा मिला। युवक ने कुछ सोच पाता इससे पहले उसने इस मामले की सूचना पुलिस कंट्रोल रूम को दी। कंट्रोल रूम ने इस मोबाईल के मालिक को खोजा और उसका मोबाईल युवक के सामने ही लौटाया। जानकारी के अनुसार गोलू पिता तेजराम रजक उम्र 24 साल निवासी अशोक विहार कॉलोनी जो कि एसडीएम पब्लिक स्कूल में स्टॉप है का पुलिस कण्ट्रोल रूम शिवपुरी आया और उसने बताया कि मुझे एसडीएम पब्लिक स्कूल की रोड़ पर एक मोबाईल मिला है पता नहीं किसका है आप मोबाईल मालिक को इस मोबाईल को सुपुर्द करने की कृपा करें। 

पुलिस कण्ट्रोल रूम प्रभारी जितेन्द्र शाक्य के द्वारा उक्त मोबाईल पर फोन, मालिक का फोन आने पर उसे सूचना दी गई कि आपका मोबाईल पुलिस कण्ट्रोल रूम पर एक व्यक्ति द्वारा ईमानदारी का परिचय देते हुए मुझे सुपुर्द किया है आप यहॉ आकर अपना मोबाईल प्राप्त कर सकतें हैं। तत्काल वह व्यक्ति पुलिस कण्ट्रोल रूम मोबाईल के बिल कीमती 10 हजार रूपये का लेकर आया जिसमें उसकी और उसने बताया कि में अनुज पिता कैलाश नारायण यादव उम्र 17 साल निवासी भौंती हाल. मुकाम रघुवंशी कोठी के पास शिवपुरी में रह रहा हूॅं। 

आज सुबह लगभग 09:00 बजे बाजार गया था बाजार से लौटते समय लोअर की पॉकेट से मेरा मोबाइल कहीं गिर गया तब से में अपना मोबाईल ढूंड़ रहा था आपका धन्यवाद जो आपने मेरा मोबाईल ईमानदारी से मुझे लौटाया एवं पुलिस कण्ट्रोल रूम प्रभारी का बहुत-बहुत आभर व्यक्त किया।