छात्रावास: शौचालय, वाटरकूलर, कम्प्यूटर सब बंद, चारों तरफ गंदगी का साम्राज्य | SHIVPURI

शिवपुरी। यदि आप छात्रावास अधीक्षक की लापरवाही और छात्रावास की दुर्दशा देखना चाहते हैं तो कृपया शासकीय अनुसूचित जाति प्री मैट्रिक सीनियर बालक छात्रावास आइए। यहां क्षमता के 2 गुना छात्र जानवरों की तरह भरे हुए हैं। अधीक्षक सफाई नहीं करवाते। शौचालयों में ताले डाल रखे हैं। छात्रों को लोटा लेकर खुले में जाना पड़ता है। कम्प्यूटर है, लेकिन बंद कर दिया। वाटरकूलर है लेकिन बंद कर दिया। सफाई और मरम्मत का फंड कहां चला गया पता ही नहीं। 

मामले का खुलासा तब हुआ जब जन सुनवाई में छात्रावास के कुछ छात्र समस्याओं को गिनाने आए। शिवपुरी समाचार डॉट कॉम के संवाददाता आज इस छात्रावास में पहुंचे तो देखा गया उक्त छात्रावास तो गंदगी का बैंचमार्क बना हुआ है। शौचालय वर्षो से साफ नही हुए हैं। अधीक्षक ने शौचालयों में ताले डाल दिए हैं। छात्रावास में कम्प्यूटर तो लेकिन केवल शो-पीस बना रखा हैं। कमरो में शीलन के कारण बदबू आ रही हैं। पीने के पानी की टंकी खुली पड़ी हुई है। बच्चों ने बताया कि इस हॉस्टल में वाटर कूलर है, लेकिन बंद कर दिया गया। 

अधीक्षक ने दी सफाई

शासकीय अनुसूचित जाति प्री मैट्रिक सीनियर बालक छात्रावास के अधीक्षक शिवदयाल वर्मा ने 2 मामलों पर अपनी सफाई पेश की। वर्मा ने बताया कि गेंहू नहीं मिले हैं, इसलिए मीनू के हिसाब से खाना नहीं दिया जा रहा है। साथ ही स्वीकार किया की छात्राबास में क्षमता से अधिक बच्चे है। जिसके चलते एक बेड पर 2 बच्चे रखे गए हैं। 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics