अंधी लव स्टोरी: उसकी WIFE से हो गया था प्यार, इसलिए दोस्त को मार डाला

शिवपुरी। शिवपुरी सिटी कोतवाली ने एक गुमशुदगी के मामले पर जांच करते हुए हत्या की गुत्थी को सुलझा लिया है। इस मामले परिजनो के कथन पर पुलिस का शक हुआ कि यह गुमशुदगी का नही हत्या का मामला है और सिटी कोतवाली टीआई संजय मिश्रा की सधी हुई जांच में इस मामले को सुलझाते हुए मृतक लाश को 16 दिन बार जंगल से बरामद कर दोनो आरोपियो को गिरफ्तार कर लिया है। इसमें अपने प्यार को पाने की चाह में आरोपी ने हत्या की है। जानकारी के अनुसार जयेन्द्र धाकड़ पुत्र भोटूराम धाकड़ उम्र 32 वर्ष निवासी मरौरा खालसा अपने घर से 13 जून को अपने बेटे की स्कूल की फीस जमा करने अपने गांव से निकला था। लेकिन वह शाम तक अपने घर नही पहुंचा। जयेन्द्र के भाई ने बताया कि जब जयेन्द्र घर नही पहुंचा तो हमने अपने स्तर पर उसे तलाशना शुरू किया। 

जब हमे जयेन्द्र नही मिला जो हमने सिटी कोतवाली पुलिस को 20 जून को जयेन्द्र की गुमशुदगी की रिर्पोट दर्ज कराई। सिटी कोतवाली पुलिस ने जब इतनी लेट रिर्र्र्पोट करने का कारण पूछा तो परिजनो ने बताया कि गायब हुए जयेन्द्र की पत्नि कहती थी कि वे आ जाऐगें। 

सिटी कोतवाली को परिजनो के इस कथन से शक हुआ और इस गुमशुदगी की जांच को आगे बढाया गया। इस मामले में जयेन्द्र की मोबाईल की छानबीन की गई तो पाया गया कि उक्त मोबाईल 13 तारिख से बंद है और इसकी लास्ट लोकेशन 18वीं बटानियन क्षेत्र मेे थी। पुलिस ने इस क्षेत्र की सीसीटीव्ही कैमरो की रिकार्डिंग तलाशना शुरू किया तो पुलिस को इस केस का एक छोर मिल गया। सीसीटीव्ही फुटेज में जयेन्द्र 2 व्यक्तियो के साथ घुमता दिखा। इन 2 व्यक्तियो की पहचान बीलवारा गांव  के निवासी महेश धाकड़ और नोहरी के रहने वाले गोविंद उर्फ विक्रम सिंह गुर्जर निवासी डोंगर के रूप में हुई। 

पुलिस ने जयेन्द्र के मोबाईल की पूरी कॉल डिटेल निकाली तो जयेन्द्र और महेश धाकड की बातचीत 13 जून को सबसे लास्ट बॉत हुई। पुलिस ने पूरी जांच पडताल के बाद महेश धाकड ओर गोविंद को उठा लिया और इनसे सख्ती से पूछताछ शुरू की। 

इस पूछताछ में  दोनों ने जयेन्द्र की हत्या करना स्वीकार लिया। दोनों आरोपी जयेन्द्र को 18वीं बटालियन से बाइक पर बिठाकर ले गए और तौलिया से गला दबाकर मार दिया। सतनवाड़ा के जंगल में ले जाकर लाश फेंक दी। सूत्रो के अनुसार आरोपी महेश धाकड और मृतक जयेन्द्र की दोस्ती काफी पुरानी थी। 

आरोपी का मृतक के घर आना जाना था इस कारण मृतक की पत्नि के साथ उसके अवैध संबंधं बन गए। अपने प्यार को पाने की खातिर महेश ने जयेन्द्र की हत्या की। आरोपियो की निशानदेही पर पुलिस ने जयेन्द्र की लाश की सर्चिंग शुरू की लेकिन जब इन आरोपियो ने मृतक ही हत्या की थी जब पानी नही गिरा था। बरसात होने के कारण उस क्षेत्र में हरियाली होने के कारण पुलिस  3 दिन तक लाश की सर्चिंग करनी पड़ी और 16 दिन बाद सडी गली हालात में मिली।
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics