कलश यात्रा के साथ 27 मूल पाठ एवं भागवत सप्ताह प्रारंभ

बैराड़। नगर परिषद बैराड़ के राम जानकी मंदिर पर भक्त मंडल द्वारा आयोजित श्रीमद् भागवत सप्ताह ज्ञान यज्ञ एव 27 भागवत मूल पाठ कार्यक्रम की कलश यात्रा भदेरा माता मंदिर से हजारों महिला पुरुषों द्वारा गाजे-बाजों के साथ शुरू हो कर बाजार के मुख्य मार्ग से ठाकुर बाबा मंदिर एवं राम जानकी मंदिर पर पहुंची। कलश यात्रा का कस्बे में जगह-जगह स्वागत छिम छिमा एवं गिर्राज भंडारा समिति एवं श्रद्धालुओं  द्वारा किया गया। कस्बे में राम जानकी भक्त मंडल द्वारा आयोजित भागवत मूल पाठ एवं भागवत सप्ताह कार्यक्रम में पंडित केदार लाल शास्त्री धौधा वालों के सानिध्य में 27 भागवत मूल पाठ का आयोजन 27 विद्वांन पंडितों द्वारा राम जानकी मंदिर पर एवं पंडित लोकेंद्र शास्त्री बंटी पुजारी द्वारा संगीतमय श्रीमद् भागवत सप्ताह ज्ञान यज्ञ आयोजन ठाकुर बाबा मंदिर पर प्रथम दिन की कथा में पंडित लोकेंद्र शास्त्री द्वारा उपस्थित श्रोताओं को भागवत कथा का महत्व बताते हुए कहा भागवत कथा से मन का शुद्धिकरण होता है। 

इससे संशय दूर होता है और शांति एवं मुक्ति मिलती है। कथा की सार्थकता जब ही सिद्ध होती है जब इसे हम जीवन में व्यवहार में धारण कर निरंतर हरि स्मरण करते हुए अपने जीवन को आनंदमय, मंगलमय बनाकर आत्म कल्याण करें। 

श्रीमद भागवत कथा श्रवण से जन्म जन्मान्तर के विकार नष्ट होकर प्राणी मात्र का लौकिक एवं आध्यात्मिक विकास होता है। जहां अन्य युगों में धर्म लाभ एवं मोक्ष प्राप्ति के लिए कड़े प्रयास करने पड़ते हैं। कलियुग में कथा सुनने मात्र से व्यक्ति भवसागर से पार हो जाता है। सोया हुआ ज्ञान वैराग्य कथा श्रवण से जाग्रत हो जाता है। कथा कल्प वृक्ष के समान है ,जिससे सभी इच्छाओं की पूर्ती की जा सकती है। 

Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

-----------

analytics