शौचालय घोटाला: कागजों में बनी है शौचालय, धरातल पर शून्य

कोलारस। प्रदेश सरकार जहां मर्यादा अभियान जोर शोर से चला रही है वहीं दूसरी ओर करोडों रुपए का बजट ग्राम पंचायतों को दिया जा रहा है इसके बावजूद भी कोलारस जनपद पंचायत के अंतर्गत आने वाली अधिकांश ग्राम पंचायतों में मर्यादा अभियान पूरा होता हुआ दिखाई नहीं दे रहा जब से यह अभियान शुरू हुआ है तब से लेकर अब तक शौचालय ग्रामों में नहीं बन पाए अधिकांश हितग्राही आज भी शौचालय बनवाने के लिए कोलारस जनपद पंचायत से लेकर जिला पंचायत के चक्कर लगा रहे हैं। 

परंतु उनका नाम सूची में दर्ज नहीं हो सका है और सूची में नाम ना आने का कारण यह है कि पहले पदस्थ रहे सचिव से लेकर चुने गए सरपंचों ने मर्यादा अभियान के तहत हितग्राहियों के घरों पर शौचालय नहीं बनाए और बिना बनाए ही रुपए फर्जी तरीके से निकाल लिए जिसके चलते  हितग्राही आज भी शौचालय बनवाने के लिए सरकार से गुहार लगा रहे हैं। 

कोलारस जनपद पंचायत के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत सेसई सडक़ राजगढ़, डेहरवारा खरई,  साखनौर,  मडीखेडा, लुकवासा में सबसे अधिक घोटाला निकलकर कर सामने आ सकता है यदि घोटालों की जांच की जाए तो और पहले रहे सरपंच से लेकर सचिव सलाखों के पीछे जा सकते हैं ग्राम पंचायतों में इतना बड़ा घोटाला होने के बावजूद भी आला अधिकारियों द्वारा जांच नहीं की गई यह समझ से परे है। 

बिना हितग्राही के बिना रुपए कैसे निकाले इसकी जांच होना चाहिए और मामला सबके सामने आना चाहिए जिससे मर्यादा अभियान को चपत ना लगाई जाए आज भी मर्यादा अभियान के तहत गांव गांव में शौचालय बनाने का कार्य चल रहा है अधिकांश शौचालय अधूरे पड़े हुए हैं तो अधिकांश स्थानों पर शौचालय बने ही नहीं है और जो बनी है उनका उपयोग ग्रामीण जनों द्वारा नहीं किया जा रहा है। 

जिसके चलते सरकार की जनकल्याणकारी इस योजना को बट्टा लग रहा है। कोलारस जनपद पंचायत अन्तेर्गत आने वाली इन ग्रामपंचायतों में मर्यादा अभियान के नाम पर पहले रहे सरपंच से लेकर सचिव ने जमकर घोटाले किये है। आज भी इन ग्रामों के ग्रामीण शोचालय बनवाने के लिये भटक रहे है ग्राम राजगढ मे तो अनेक हितग्राहीयों के शोचालय कागजो मे बनाकर रूपये हजम कर लिये गये और गांव के गरीबलोग आज भी शोचलय बनवाने के लिये जनपद से लेकर आला अधिकारीयों के यहा गुहार लागा रहे है परन्तु  इनकी सुनवाही नही कि जा रही है यदि इन ग्राम पंचायतों मे आला अधिकारी जा कर जांच करे तो बहुत बडा घोटाला मार्यदा अभियान का निकल कर सामने आ सकता है।
Share on Google Plus

About Yuva Bhaskar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

0 comments:

-----------