अरे ये क्या मुन्नालाल जी ऐसी वीडियो: शहर को रूलाओगें क्या

एक्सरे ललित मुदगल, शिवपुरी। अभी-अभी शहर की सोशल मीडिया पर नपा अध्यक्ष मुन्नालाल कुशवाह का एक वीडियो वायरल हुआ है। इस वीडियो में मुन्नालाल कुशवाह खूबत घाटी पर टूटे पाईप पर बैठकर एक छोटा सा वक्तव्य दे रहे है। इस वीडियो को सोशल पर वायरल किया गया है। अब इस वीडियो को देखकर शहर यह जरूर सोचता होगा कि अरे ऐसी वीडियो शहर को रूलाओगेंं क्या...

इस कारण वायरल हुई वीडियो 
जैसा कि विदित है कि आगामी 8 अगस्त को सिंध के शहर में प्रवेश न होने पर पब्लिक पार्लियामेंट जलक्रांति आंदोलन शुरू कर देगी। इस आंदोलन की  घोषणा हो चुकी है। आंदोलन के स्थान का चयन और रणनीति भी बन चुकी है। शहर में 2 बार सिंध प्रवेश कर चुकी है,लेकिन बार-बार रूकावट के लिए खेद हो जाता है। 

इस समय शहर जल संकट से जलसंघर्ष कर रहा है। चारो ओर पानी-पानी और हाथ में कट्टी नजरी आती है। शहर पिछले 10 सालो से सिंध की ओर टकटकी लगाए देख रहा है। टेंकरो के पानी के साथ-साथ शासन-प्रशासन और के आश्वसन भी पी रहा है। 

नगर के प्रथम नागरिक और इस योजना की एंजेंसी नगरपालिका होने के कारण उनका प्राथमिकता में शहर को पानी देना है,लेकिन मुन्नालाल कुशवाह समझ चुके है कि सिंध अभी दूर की कौडी है। टूटे पाईप पर बैठकर रोना रो रहे है।  यह वीडियो एक रणनीति के तहत वायरल कराया गया है,कि वे इस शहर को पानी पिलाने को कितने संजीदा है। वे भी चिंतित है उन्हें भी आप जैसे ही आश्वासन कंपनी के द्वारा मिल रहे है। 

अगर मुन्ननालाल कुशवाह इतने संजीदा पिछलेे सालो से होते तो शायद पानी अभी तक आ जाता है,अगर नगर पालिका के अधिकारियों और कर्मचरियो को सही लीड कर रहे होते तो आज शहर में कट्टी कलचर खत्म हो गया होता पर ऐसा नही हुआ है। 

इस वीडियो को वायरल एक योजना को लेकर किया गया है। यह पक्का की हे कि आगामी 8 अप्रैल से जलसत्याग्रह शुरू होना है, ओर सत्याग्रह में मुन्नालाल कुशवाह को भी पानी पी-पीकर कोसा जाना अवश्य तय है, वे इससे बचने की जुगाड में है और ऐसे वीडियो वायरल किए जा रह है आगे भी हो सकते और मुन्नालाल जी कह भी सकतें है कि हमने तो पूरे प्रयास भी किए लेकिन इसमें सारी लापरवाही इस प्रोजेक्ट पर काम कर रही देाशियान कंपनी की है। 

लापरवाही तो सबसे बडी यह है कि जब लाईने बिछाई जा रही थी तो इन लाईनो की मोनीटरिंग सही तरीके से क्यों नहीं की गई। पूरा प्लान क्या नगर पालिका और अध्यक्ष जी को नही पता था कि इन लाईनो से ही पानी की टंकी भरेंगी और कितना प्रेशर रहेगा। 

ऊपर से इतने गंभीर मुद्रा में वीडियो फोटो सोशल पर डाले जाऐगा तो शहर  वासियो के आंखो से यह सोचकर आसू निकल आऐगे की कौन सी  मति  खराब हो गई थी कि आपको वोट किया। 
Share on Google Plus

About Yuva Bhaskar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

1 comments:

Anonymous said...

अरे मुद्गल जी हो सकता है मुन्नालाल जी सच मे चिंतित हो
आपको यह बात कैसे पता कि सब प्लान है

-----------