गुना-ग्वालियर रेलवे लाइन का दिसंबर 2018 तक होगा विद्युतीकरण: चेम्बर ऑफ कॉमर्स

शिवपुरी। गुना-ग्वालियर रेलवे लाइन के टेंडर आमंत्रित हो चुके है और इसी माह संबंधित ठेकेदार को कार्यादेश दे दिया जाएगा और उम्मीद है कि दिसंबर 2018 तक गुना-ग्वालियर रेलवे लाइन का विद्युतीकरण पूर्ण हो जाएगा। इसके साथ ही यह समूचा क्षेत्र रेल आगमन की दृष्टि से काफी समृद्ध होगा। उक्त बात चेम्बर ऑफ कॉमर्स शिवपुरी के मानद सचिव विष्णु अग्रवाल ने इस संवाददाता से चर्चा करते हुए कही। उन्होंने यह भी बताया कि इसी माह पाडरखेड़ा रेलवे स्टेशन शुरू हो जाएगा तथा इस स्टेशन के शुरू होने से एवं गुना से ग्वालियर तक रेल लाइन के विद्युतीकरण से इलाके में रेल सुविधाएं तेजी से बढेंगी। 

चेम्बर ऑफ कॉमर्स  के सचिव विष्णु अग्रवाल ने बताया कि इलाके में रेल सुविधाएं बढाने के लिए उनका संगठन निरंतर प्रयत्नशील रहा है। लगभग 10 सालों से बंद पडे पाडऱखेड़ा रेलवे स्टेशन को शुरू कराने के लिए उन्होंने लगातार रेल मंत्री, स्थानीय सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और डीआरएम से चर्चाएं की। जिसके परिणामस्वरूप लगभग 2 साल पहले रेलवे वोर्ड ने स्टेशन शुरू करने के लिए प्रशासकीय स्वीकृति दे दी थी। लेकिन सुरक्षा कारणों से यह स्टेशन शुरू नहीं हो सका । 

परंतु अब समस्त औपचारिकताएं पूर्ण हो चुकी है। डीआरएम ने बताया कि सिर्फ सुरक्षा का आश्वासन मिलने के बाद पाडऱखेड़ा स्टेशन खोल दिया जाएगा। जिससे ट्रेनों की क्रोसिंग यहां से हो सके। अभी तक शिवपुरी और मोहना के बीच ट्रेनों की क्रोसिंग नहीं हो पाती थी। श्री अग्रवाल ने बताया कि वह सुरक्षा के लिए जल्द ही एसपी सुनील कुमार पाण्डेय से मिलेंगे और उन्हें विश्वास है कि जनवरी माह के अंत तक पाडऱखेड़ा रेलवे स्टेशन शुरू हो जाएगा। 

श्री अग्रवाल ने बताया कि इस क्षेत्र के लिए यह भी एक उपलब्धि है कि गुना से ग्वालियर तक रेल लाइन का विद्युतीकरण हो रहा है। विद्युतीकरण होने से जहां ट्रेनों की गति बढेंगी वहीं कई नई ट्रेने शुरू होने की संभावना भी बलबती होगी। उन्होंने बताया कि गुना-ग्वालियर रेल लाइन पर नई ट्रेन शुरू होने में मुख्य बाधा विद्युतीकरण समस्या की थी।

इस लाइन पर विद्युतीकरण न होने से इसका उपयोग नहीं हो पाता था। वर्तमान में झांसी ग्वालियर रेल मार्ग व्यस्ततम रेल मार्ग है और इस रेल मार्ग पर क्षमता से 90 प्रतिशत तक ट्रेनों का संचालन हो रहा है जबकि क्षमता से 70 प्रतिशत तक ही ट्रेनों का संचालन होना चाहिए। 

गुना-ग्वालियर रेल लाइन का विद्युतीकरण होने से इस मार्ग पर ट्रेनों को डायवर्ट किया जा सकेगा जिससे कई नई ट्रेनों का जहां शुभांरभ होगा। वहीं झांसी ग्वालियर रूट पर चल रही कई ट्रेने गुना-ग्वालियर मार्ग पर शिफ्ट की जा सकेगी। श्री अग्रवाल ने यह भी जानकारी दी कि ग्वालियर आगरा सटल को शिवपुरी-गुना तक लाने की अनुमति मिल गई थी लेकिन न जाने किन कारणों से यह ट्रेन शिवपुरी-गुना तक नहीं आ सकी इसे भी लाने की चेम्बर ऑफ कॉमर्स पहल कर रहा है। 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics