इडेक्टेन्स एजूकेयर: शिवपुरी का उभरता संस्थान, बिहार और यूपी तक कि छात्र ले रहे है प्रवेश

शिवपुरी। शहर के छात्र आज दिनांक तक उच्च शिक्षा के लिए अपने परिजनों से दूर कोटा और इंदौर जैसे महानगरों में जाकर शिक्षा ले रहे थे। इसी को देखते हुए इंडक्टेंस एजूकेयर ने महानगरों की तर्ज पर अपने आप को कम से कम समय में स्थापित कर लिया है। जिससे चलते अब उच्च शिक्षा के लिए शिवपुरी के छात्रों को शहर से बाहर न जाते हुए शहर के मध्स में ही स्थिति संस्थान पर अपने भबिष्य को गढ़ रहे है। इतना ही नहीं इस संस्थान के प्रति शहर ही नहीं यूपी और बिहार से आए छात्र भी यहां रहकर उक्त सस्थांन से पढ़ाई में जुट गए है। 

इंडक्टेंस एजूकेयर की स्थापना शिवपुरी में शैक्षणिक गुणवत्ता में सुधार के साथ साथ इंदौर और कोटा जैसी आईआईटी, जेईई, नीट, एनटीएसई और ओलम्पियाड जैसी परीक्षाओं का आईआईटियन्स द्वारा स्कूली शिक्षण के साथ साथ अध्यापन कराने बाला कोचिंग संस्थान के रूप में की गयी थी।

योग्य शिक्षकों के निर्देशन में ,तकनीकि संसाधनों के साथ इंडक्टेस एजूकेयर ने घर के बाहर छात्रों की देख रेख का उचित जिम्मा उठाने का भी संकल्प लिया। शिक्षा जगत में औद्योगिक रूप हासिल कर चुके महानगरों में अभिवावको को सर्वाधिक परेशानी बच्चो की देख रेख और महगें खर्च और सुरक्षा की आ रही थी।

जिसका शिवपुरी में स्थापित इस संस्थान सर्वाधिक ध्यान रखा गया। इसके उपरांत शिक्षा जगत के ख्यातिनाम शिक्षकों ने बच्चो के अध्यापन और सम्पूर्ण शिक्षा की जिम्मेदारी उठाई। नतीजतन इसमें शिवपुरी जिले की तहसीलों के साथ साथ बिहार और यूपी के छात्रों ने प्रवेश लेना प्रारम्भ कर दिया है।

हाल ही में यूपी बलिया के छात्र सुप्रिमजीत मौर्य, राज चौहान तथा बिहार के छात्र सौरव कुमार और नितेश मलेशिया ने प्रवेश लेने की उपरांत कहा कि उन्होंने कई सारे शिक्षण संस्थानों का तुलनात्मक परीक्षण किया और इंडक्टेंस एजूकेयर को बेहतर पाते हुए यहाँ प्रवेश लिया। यह सभी छात्र जवाहर नवोदय विद्यायल से आए हुए है।
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..
Loading...
-----------

analytics