Ad Code

हौंसलों से आगे बढ़ती है जिंदगी : शिवम दीक्षित

राजू (ग्वाल) यादव/शिवपुरी-कभी जीवन में आने वाली कठिनाईयों का सामना करना है तो इनसे लडऩे के लिए हौंसला होना चाहिए और हौंसला अगर हो तो जिंदगी आगे बढ़ ही जाती है, मैंने कभी जीवन में अपने आप को असहज महसूस नहीं किया, क्योंकि जीवन तो जीने का नाम है शुरू से ही बोलने की आदत ने मुझे वक्ता बना दिया तो कॉलेज में मिस्टर आजाद प्रतियोगिता में विजेता बनने के बाद मुझे आजाद नाम मिल गया,
बात यहीं खत्म नहीं होती अभी तो मेरे जीवन की शुरूआत का अंश है वाद-विवाद और नाटक मंचन जिन्होंने मेरे जीवन के नई दिशा दी है हर समय मेरे दादा विजयबिहारी दीक्षित और पिता शिव मनोहर दीक्षित का आत्मबल मुझे मिला और आज मैं जिस मुकाम पर हॅंू उससे कहीं आगे जाने का मेरा सपना अभी अधूरा है जिसे पूरा करने के लिए मैं जीवन से संघर्ष कर रहा हॅंू। 

जीवन की इन कठिनाईयों और संघर्षों के अल्फाजों को व्यक्त कर रहे थे मूलत: उन्नाव निवासी और आजाद फिल्म्स प्रा.लि.के प्रोडक्शन द्वारा बनाए गए धारावाहिक आजाद फोर्स के मुख्य किरदार व अभिनेता आजाद शिवम दीक्षित का जिन्होंने अपने जीवन के कुछ पल हमारे साथ साझा किए और बताया कि व्यक्ति को कभी हार नहीं माननी चहिए बस हौंसलें को बनाए रखे तो जीवन में तरक्की ही तरक्की मिलती जाती है।

मूलत: 12 अक्टूबर 1984 को उत्तरप्रदेश के उन्नाव में जन्मे शिवम ने अपनी शुरूआती शिक्षा पूर्ण करने के बाद अलीगढ़ से ग्रेजुएशन किा इसके बाद भोपाल में माखन लाल चतुर्वेदी यूनीवर्सिटी से बी.जे.(बैचलर ऑफ जर्नलिज्म) का कोर्स किया। इसके बाद जन संचार में परास्नातक की डिग्री गुरू जमगेश्वर यूनीवर्सिटी हिसार से पाई। लेखनी के आदि शिवम मीडिया से काफी जुड़े रहे जिसमें हिन्दुस्तान समाचार पत्र में लेखन कार्य किया और सब टी.व्ही. के साथ भी जुड़कर काम किया। 

एक खास परिचय शीर्षक के अनुसार हम मुखातिब हुआ आजाद शिवम् दीक्षित से जिन्होने अभी-अभी कुछ समय पहले शिवपुरी में आजाद फोर्स धारावाहिक का निर्माण किया और इसकी शूटिंग भी शिवपुरी के सिटी प्लाजा व हरियाणा के झज्जर जिले में की गई। यहां आजाद फोर्स के मुख्य किरदार में एसीपी का अभिनय व आजाद फिल्म प्रोडक्शन प्रा.लि. का संचालन कर रहे आजाद शिवम दीक्षित ने हमसे संक्षित बातचीत में बताया कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनीवर्सिटी में मिस्टर आजाद प्रतियोगिता से मुझे आजाद नाम मिला और शुरू से ही मैंने वाद-विवाद प्रतियोगिता व नाटक मंचन में अभिनय किया। 52बार वाद-विवा प्रतियोगिता जीतनके बाद मैं ऑल इंडिया डिबेट(वाद-विवाद)प्रतियोगिता में दो बार विजेता बना और मैं वक्ता के रूप में चुना गया। यहीं से मुझे बैंगलोर में बेस्ट स्पीकर का अवार्ड भी मिला। 

शिवम ने बताया कि फिल्म प्रोडक्शन में प्रवेश विजेता फिल्म जो कि प्रसिद्ध अभिनेता धर्मेन्द्र के फिल्म प्रोडक्शन की थी जिसमें मैंने पृष्ठ ध्वनि वॉइस ओवर आर्टिस्ट की भूमिका निभाई। इसके बाद टेक वन प्रोडक्शन के साथ काम किया और फिर प्रसिद्ध फिल्मकार महेश भट्ट की तीन फिल्मों के प्रमोशन का काम मिला जिसमें फिल्म जश्न और तुम मिले व एक अन्य शामिल है। शिवम ने बताया कि यह सब अनुभवन मिलने के बाद मंैंने स्वयं का प्रोडक्शन खोला जिसका नाम आजाद फिल्म प्रोडक्शन प्रा.लि.रखा गया और इसी प्रोडक्शन के बैनर तले महिषासुर मर्दिनी, वृत्तचित्र कार्यक्रम, म्याना क्या शादी के लिए, टेली फिल्म मेरे पड़ौसी का जबाब नहीं, माया की माया, पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जीवन से ओतप्रोत अटल गाथा, तिरंगे की शान, बॉलीवुड जलवा, ऐरे दुबई जैसे कई निर्माण भी आजाद फिल्म प्रोडक्शन के बैनर तले किए गए इसके बाद अभी आजाद फोर्स धारावाहिक तो आगामी समय में शहरी गुब्बार फिल्म का निर्माण भी होगा। जिसमें आजाद फोर्स की शूटिंग जनवरी 2013 से शुरू हुई और मई माह में खत्म होने के बाद अब इसे जून माह में चैनल दबंग पर प्रस्तुत किया जाएगा।

खुलकर वक्तव्य वाली फिल्म होगी शहरी गुब्बारा

आजाद फिल्म प्रोडक्शन के शिवम दीक्षित ने बताया कि आमतौर पर देखा गया है कि आज हम कई बातेें जो पति-पत्नि की हों अथवा  शारीरिक व मानसिक बातें जिन्हें कहने में हमें शर्म आती है इन सभी बातों को खुले रूप से वक्तव्य प्रदान करने वाली फिल्म होगी शहरी गुब्बारा, शिवम ने बताया कि जैसा कि टीवी में विज्ञापन आता था कण्डोम तो इस शब्द को सुनकर लोग शर्माते थे लेकिन यह वास्तविक सच्चाई और परिवार नियोजन का सबसे बड़ा सरल तरीका है इसमें शर्म कैसी, ऐसी ही कुछ बातें है जो शर्म के मारे सामने नहीं आती उनक बातों को हम शहरी गुब्बारा फिल्म के माध्यम से बाहर लाऐंगें। जिसमें हास्य कलाकार सुनील पाल, राजू श्रीवास्तव सहित अन्य कलाकार शामिल रहेंगें। यह एक कॉमेडियन फिल्म होगी। शिवम ने कहा कि आजकल हम हॉलीवुड की फिल्में जिसमें सबकुछ खुला होता है वह देख रहे और उसी की नकल भी हो रही है तो ऐसे में शहरी गुब्बारा एक सटीक फिल्म साबित होगी हमें विश्वास है।

आजाद फिल्म प्रोडक्शन के ये हैं कलाकार

आजाद शिवम दीक्षित की पूरी टीम में उनके साथ कलाकार आकांश जैन, दिनेश शर्मा, आयुष मल्होत्रा, निहारिका शेरावत, मन राऊत, जिशान अहमद, उमेश भार्गव शामिल है। जिनका भरपूर सहयोग शिवम को हर समय मिलता है। इस टीम को समय-समय पर अपने अभिनय के रूप में कार्य करने की भी ट्रेनिंग शिवम द्वारा दी जाती है।

यह है आगे की योजना

भविष्य की योजनाओं पर अपना प्रकाश डालते हुए आजाद शिवम दीक्षित ने बताया कि अभी तो जीवन में और संघर्ष है और इस संघर्ष से ऐसी जगह बनाना है जहां स्वयं का मुकाम स्थापित हो सके इसके लिए हमारे प्रयास निरंतर जारी है जिसमें अलग-अलग तरह के दर्शकों के लिए अलग फिल्में बनाई जाऐंगी और नुक्कड़ नाटक भी बनाऐंगें। शिवम ने बताया कि आजाद फिल्म प्रोडक्शन के बैनर तले आगामी समय में नाटक मंचन से जुड़े कार्यक्रम का निर्माण करेंगें तो वहीं भ्रूण हत्या को रोकने व जनमानस के बीच बालक-बालिका में भेदभाव का ना रहे इसके लिए चीख, महात्मा गांधी के जीवन से ओतप्रोत हल्ला बोल-गांधी के तीन बंदर, शहीदे आजम भगत सिंह, टौबा टेग सिंह नुक्कड़ नाटक आदि का निर्माण भी किया जएगा।