शिव 'राज' पर सांसद सिंधिया का पहला वार, रोड़ शो में उमड़ी भीड़ | BADARWAS NEWS

बदरवास। बदरवास नगर पंचायत द्वारा अग्रवाल धर्मशाला में आयोजित कार्यक्रम में पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं स्थानीय सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने संबोधित करते हुए कहा कि इस समय अफसरवादी, भ्रष्टाचारी, घोषणावीर नेता प्रत्येक चौराहे पर मिल जायेंगे लेकिन जान जाए पर वचन जाए ऐसे नेता कम ही मिलते हैं। यह बात तो सिर्फ और सिर्फ कांग्रेस के नेताओं में ही है। जान भली चली जाए लेकिन वचन नहीं जा सकता। क्योंकि वर्ष 2013 में वर्तन भाजपा सरकार के मुख्यमंत्री स्वयं बदरवास में आए थे और उन्होंने घोषणा की थी कि यहां पर महाविद्यालय का निर्माण कराया जाएगा लेकिन अब चार साल बीत जाने के बाद भी महाविद्यालय का अता पता नहीं है। 

इतने दिनों में इस महाविद्यालय में पढऩे वाले बच्चे भी मतदाता बन गए हैं, लेकिन कॉलेज नहीं बना इससे इन घोषणावीरों की जुवानों पर से भी लोगों को विश्वास उठ गया है। आगे सांसद सिंधिया ने कहा कि बदरवास में मेरे पूज्य पिताजी के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े होने वाले स्व. लालसाहब, स्व. रामसिंह थे। जिन्होंने आज तक सिंधिया परिवार के कंधे से कंधा मिलाकर जनसेवा के लिए समर्पित खड़े थे। लेकिन इनकी आगे आने वाली पीड़ी भी जनसेवा में पीछे नहीं है। चाहे वह नगर पंचायत उपाध्यक्ष भोले के रूप में हो या नरेन्द्र इन्होंने लाल साहब के नाम को आगे बढ़ाने में भरसक प्रयास किया और उनके बताए गए पदचिन्हों पर चल कर जनसेवा में आज भी आगे है। 

जिसका परिणाम आपर जनसैलाव से लगाया जा सकता है। सांसद सिंधिया के साथ मंचासीन लोगों में विधायक रामनिवास रावत, गोपाल सिंह चौहान विधायक चंदेरी, पूर्व विधायक हरिवल्लभ शुक्ला, बैजनाथ सिंह यादव, केशव सिंह तोमर, रामकुमार यादव, देवेन्द्र गुप्ता कांग्रेस प्रभारी बदरवास, महेन्द्र यादव खतौरा, मिथलेश यादव मुनिया, प्रकाशचंद झा, योगेन्द्र यादव, भरत सिंह यादव ऐजवारा, रमेश गुप्ता, मोनू चतुर्वेदी, मुन्ना खां पूर्व पार्षद उपस्थित थे।  इस अवसर पर बदरवास नगर आगमन पर सिंधिया फैंस क्लब एवं सेवादल के कार्यकर्ताओं द्वारा विशाल बाईक रैली बदरवास नगर में निकाली गई। सभा को संबोधित करने से पूर्व बदरवास नगरपंचायत द्वारा कराए गए चार करोड़ 21 लाख  रूपए के विकास कार्यो के भूमि पूजन भी किए गए। इस अवसर पर सांसद सिंधिया का बदरवास नगर जगह-जगह पुष्पवर्षा कर स्वागत किया। 
Share on Google Plus

About Bhopal Samachar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

0 comments:

-----------