Saturday, June 03, 2017

पुलिस कंट्रोल रूम के सामने डीजे पर नाचते बाराती, हाईवे जाम

शिवपुरी। शहर के सिटी कोतवाली क्षेत्र में बीती रात्रि बारातों की भरमार से कर्ई स्थानों पर जाम के हालात निर्मित हो गए। सबसे बेकार स्थिति पोहरी बायपास पर बनी जहां एक बारात सडक़ के बीचों बीच घंटों तक खड़ी और डीजे की धुनों पर बाराती थिरकते रहे। इस दौरान लगभग एक से डेढ़ घंटे तक सडक़ के दोनों ओर तीन-तीन कि.मी. का जाम लग जाने से छोटे व बड़े वाहनों की लम्बी-लम्बी कतारें लग गर्ई और लोग जाम में फंस गए। स्थिति यहां तक पहुंच गर्ई कि जाम में फंसे लोगे आपस में झगडऩे लगे। 

यह स्थिति पुलिस कन्ट्रोल रूम के सामने बनी रही और वहां मौैजूद पुलिसकर्मी मूंक दर्शक बनकर तमाशा देखते रहे। इसी तरह  माधव चौक चौराहा और चाबी घर सहित पुरानी शिवपुरी व फिजीकल पर भी जाम लगने से लोग परेशान होते रहे। 

जानकारी के अनुसार कल शहर में विवाह समारोह सहित सम्मेलन आयोजित किए गए रात्रि में बारातें निकलने का दौर शुरू हुआ तो शहर के कर्ई स्थानों पर जाम के हालात बन गए। इसके बाबजूद भी ट्रेफिक कर्मियों ने जाम खुलवाने के कोई प्रयास नहीं किए।

सबसे बदतर हालात पोहरी वापस क्षेत्र के हुए जहां एक बारात घंटों तक सडक़ के बीेचों बीच खड़ी रही और डीजे की धुनों पर बाराती थिरकते रहे। यह घटनाक्रम पुलिस कन्ट्रोल रूप के सामने घटित हुआ इसके बाबजूद भी कन्ट्रोल रूम में मौजूद कोई भी पुलिसकर्मी ने जहमत तक नहीं उठाई कि वह जाम खुलवा सकें।

पुलिस कर्मियों की यह लापरवाही जनता के लिए मुसीबत बन गई। स्थिति यह हो गर्ई कि सडक़ के दोनों ओर तीन-तीन कि.मी. तक ट्रकों और यात्री बसों सहित दो पहिया व चार पहिया वाहनों की कतारें लग गई। यह स्थिति लगभग डेढ से दो घंटे तक बनी रही।

इस दौरान कई लोग जल्दी निकलने के चक्कर में आपस में उलझ गए और नौबत मारपीट तक आ गर्ई, लेकिन कुछ लोगों ने बीच बचाव कर उक्त मामले को शांत करा दिया। 

प्रतिबंध के बाबजूद भी बजते रहे डीजे
माननीय उच्च न्यायालय द्वारा रात्रि 10 बजे के बाद डीजे बजाने पर प्रतिबंध लगा रखा है। इसके बाबजूद भी नियमों को ताक पर रखकर डीजे संचालक बेखौफ तरीके से दस बजे के बाद भी डीजे बजा रहे हैं। बारातों में डीजे का चलन होने से बाराती घंटों तक सडक़ों पर तेज आवाज में डीजे बजबा कर थिरकते हैं जिससे जाम की स्थिति उत्पन्न होती है और लोगों को परेशानी के साथ-साथ ध्वनी प्रदूषण का सामना करना पड़ता है।