Monday, May 22, 2017

सोन चिरैया अभ्यारण में रेत की अवैध खदान धसकने से मजदूर की मौत

करैरा। जिले के करैरा थाना क्षेत्र के ग्राम शिलरा के पास महुआ नदी के किनारे अवैध रूप से संचालित अवैध रेत खदान मैं एक मजदूर की खदान धसक जाने से दर्दनाक मौत हो गई। जिसे खदान क्षेत्र में हड़कंप की स्थिति निर्मित हो गई स्थानीय लोगों ने इस बात की सूचना करेरा पुलिस को दी करेरा पुलिस मौके पर पहुंची और बमुश्किल शब को बाहर निकाला। घटना के समय कई ट्रैक्टर चालक नदी में खड़े हुए थे पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

जानकारी के अनुसार भोपू कुशवाह अपने साथियों के साथ महुआ नदी में ट्रैक्टर में रेत भरने गया हुआ था। तभी अचानक गुफानुमा बने रेत की खदान  बराबर बराबर आ कर गिर पड़ी भरभराकर गिर गई जिससे भोपू कुशवाह रेत की खदान में दब गया।

भोंपू को रेत में दबा देख ट्रैक्टर चालक ट्रैक्टरों को लेकर भाग गए। और मृतक जीवन और मौत के बीच चिल्लाता रहा लेकिन उसकी आवाज नदी में दब गई और दर्दनाक मौत हो गई।

विदित हो कि विगत 5 वर्षों से सोन चिरैया अभ्यारण क्षेत्र से रेत की महुआ नदी के किनारे अवैध खदान पर रेत का अवैध व्यापार वहां के लोगों के द्वारा एवं कुछ नेताओं के द्वारा अपने अपने ट्रैक्टरों को चलवाकर वहां से रेत का अवैध परिवहन और उत्खनन किया जाता है। विभाग को पता होने के बावजूद भी हर रोज विभाग के कर्ताधर्ता खानापूर्ति कर और वसूली कर बहा से चलते नजर आते है लेकिन कारवाई करने पर अपने हाथों पर हाथ रखे बैठे अपने दफ्तरों में एवं अपने क्वार्टरों में आराम फरमाते नज़र आते है। 

5 वर्षों से यह खदान संचालित है लेकिन अभी तक सोन चिरैया अभ्यारण के अधिकारी अपनी जिम्मेदारियों से भागते नजर आए और अपनी जेब गरम करते आए। जिसका परिणाम है जो आज वह खदान मौत की खदान बन गई।