Sunday, January 22, 2017

सिंधिया की पाठशाला: शहर की हालातों पर नपाध्यक्ष और उपाध्यक्ष की क्लास

शिवपुरी। शिवपुरी शहर की नपा पर कांग्रेस का कब्जा है, अध्यक्ष और उपाध्यक्ष भी कांग्रेस के है लेकिन दोनों में कदमताल एक न होने के कारण कांग्रेस की कब्जे वाली नपा बीते 2 वर्ष में एक भी उल्लेखनीय कार्य नही कर सकी। इस कारण सांसद सिंधिया द्वारा नपाध्यक्ष और उपाध्यक्ष की क्लास लेने की खबर आ रही है। 

सासद सिंधिया ने यह कहने में गुरेज नहीं किया कि नगर पालिका पर दो साल से कांग्रेस का कब्जा है, लेकिन इसके बाद भी नगर में विकास हो रहा है यह नजर नहीं आ रहा। इसलिए सबकुछ भूलकर टीम भावना के साथ नगर पालिका अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और नपा प्रशासन शहर के विकास में जुट जायें। 

सांसद सिंधिया ने विकास हेतु अध्यक्ष और उपाध्यक्ष को कुछ टिप्स भी दिए और समय सीमा में कार्र्य पूर्ण किए जाने के निर्देश दिए तथा यह भी चेताया कि नगर पालिका के धन का दुरूपयोग नहीं होना चाहिए।

शिवपुरी पबिलक स्कूल के कार्र्यक्रम के बाद श्री सिंधिया ने नपाध्यक्ष मुन्नालाल कुशवाह, उपाध्यक्ष अन्नी शर्मा और सीएमओ रणवीर कुमार को अपनी गाड़ी में बिठाया और उनसे पूछा कि शहर के विकास तथा सौन्दर्यीकरण के लिए वह 1या करने जहा रहे हैं। 

नपा पदाधिकारियों ने सांसद सिंधिया को आगामी कार्ययोजना से अवगत कराते हुए लिखित रूप से दस बिन्दुओं की कार्र्ययोजना सौंपी जिसमें बताया गया था कि शहर में सडक़ें बनाई जा रहीं है। मर्ई तक सिंध जलावर्धन योजना पूर्र्ण करने का लक्ष्य है और गुना वायपास से सोनचिरैया होटल तक बीच में लगे डिवाईडरों पर स्ट्रीट लार्ईट लगाई जाएगी तथा वहां वृक्षा रोपण किया जाएगा। रोड़ के बीच में लगी डीपी को अन्यत्र स्थानांतरित किया जाएगा। 

माधव चौैक चौैराहे पर माधौ महाराज की प्रतिमा लगाने से भी सासंद सिंधिया को अवगत कराया गया। वहीं माधव चौक चौराहे का सौन्दर्यी करण किया जाएगा। लेकिन सांसद सिंधिया ने इसे अपर्र्याप्त बताते हुए कहा कि वह शहर के सौन्दर्यीकरण और विकास का टाईम लिमिट के साथ लिखित रूप में खाका खींचकर उससे मुझे अवगत करायें। 

शहर के विकास के लिए सिंधिया ने दिए सुझाव
नपाध्यक्ष, उपाध्यक्ष और सीएमओ को सुनने के बाद सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि यह पर्याप्त नहीं है। माधव चौक के सौन्दर्यीकरण के साथ-साथ शहर के प्रमुख चौराहों जैसे सुभाष चौक, दो ब8ाी चौराहा और तिकोनिया पार्क का भी सौन्दर्यीकरण होना चाहिए। यहां लाईटिंग और हरियाली की टार्ईम लिमिट में व्यवस्था की जाए।

सांसद सिंधिया ने यह भी सुझाव दिया कि सडक़ किनारे जनता को बैठने के लिए बैंचें लगाई जायें। श्री सिंधिया के सुझाव के बाद जब नपाध्यक्ष और उपाध्यक्ष झांसी पहुंचे तो उनके पास शहर के विकास का एक पूरा प्लान था। जिसे देखकर सांसद सिंधिया ने समय सीमा में कार्र्य योजना को पूर्ण करने का निर्देश दिया।