कोल्डड्रिंक्स: प्रिंट रेट से अधिक वसूले जा रहे दाम

शिवपुरी। गर्मी से राहत दिलाने के नाम पर कोल्डड्रिंक्स का बिजनेस जमकर फलफूल रहा है। खासकर बच्चे शीतल पेय को अधिक पसंद करते हैं, लेकिन इसकी गुणवत्ता की जांच करने की जरूरत कोई नहीं समझता है। सरकारी अस्पताल में तो कई मरीज रोजाना सर्दी, खांसी और बुखार का इलाज करवाने पहुंच रहे हैं। इनमें अधिकतर संख्या छोटे-छोटे बच्चों की बताई जा रही है। 

परिजनों से पूछने पर जानकारी मिल रही है कि बच्चे आईसक्रीम, कोल्डड्रिंक्स, जूस आदि पीकर बीमारी की चपेट में आ रहे हैं। 10 वर्षीय राम की मां ने बताया कि उनका बच्चा रोजाना कोल्डड्रिंक्स पी रहा है और आईसक्रीम खाता है। नगर में कई शीतल पेय पदार्थ रखने वाले दुकानदार फ्रिज में रखे विभिन्न फ्लेवर में से कुछ आयटम को एमआरपी से अधिक रुपए वसूल रहे हैं। जब ग्राहकों द्वारा एमआरपी से अधिक रुपए वसूलने का कारण पूछा जाता है तो विरोध करने पर दुकानदार का कहना होता है कि बॉटल पर नहीं लिखा कि ठंडी बाटल 10 रुपए में दी जाएगी। यह जो एक्सट्रा लिया जा रहा है, वह ठंडा करने का चार्ज है। ऐसे में 10 रुपए की छोटी बॉटल के 12 से 15 रुपए तक वसूले जा रहे हैं। 

आईसक्रीम और कोल्डड्रिंक्स पर प्रिंट कीमत से 5 से 10 रुपए तक अधिक वसूले जा रहे हैं। एक साथ नगर के सभी दुकानदारों द्वारा बढ़ाए गए इस रेट से ग्राहक इसका विरोध नहीं कर पाते और अधिक नुकसान उठाते हैं। नगर में उपभोक्ताओं के साथ हो रही ठगी के बाद भी जिम्मेदार कोई कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। 

प्रिंट रेट से अधिक रेट पर कोल्डड्रिंक्स बेचने पर दुकानदारों का तर्क है कि उन्हें कोल्डड्रिंक्स को ठंडा करने के लिए बिजली की जरूरत पड़ती है और अप्रैल से बिजली के दामों में भी बढ़ोतरी हो गई है। इसी के चलते हम ग्राहकों से कोल्डड्रिंक्स पर प्रिंट रेट से ज्यादा रुपए लेकर ठंडी कोल्डड्रिंक्स उपलब्ध करा रहे हैं। 

उपभोक्ता यहां पर करें शिकायत 
यदि कोई दुकानदार एमआरपी से अधिक राशि वसूलता है या पूरे दाम लेकर कम वस्तु देता है तो ग्राहक कंट्रोलर ऑफ लीगल मेट्रोलॉजी, वेट एंड मेजर मप्र शासन उपभोक्ता संरक्षण मंत्रालय को शिकायत कर सकते हैं। 

कार्रवाई का है प्रावधान 
नापतौल विभाग के पास ऐसे मामले में कार्रवाई का अधिकार है। रिटेलर, डीलर, निर्माता पर कार्रवाई के अलग-अलग मापदंड हैं। अधिक दाम वसूलने पर दुकानदार के विरुद्ध दंडात्मक कार्रवाई की जा सकती है। 

हानिकारक है सेवन 
कोल्डड्रिंक्स में खास कर प्लास्टिक की बोतलें ज्यादा समय तक धूप में रखने के बाद फिर उन्हें फ्रिज में रखकर ठंडा किया जाता है। इसका सेवन करना शरीर के लिए हानिकारक है। इससे पेट, गला और चर्म से संबंधित बीमारियां भी हो सकती हैं। इसके साथ ही सेक्रीन का इस्तेमाल तो बहुत ही हानिकारक है। इसके इस्तेमाल से कई तरह की बीमारियां होती हैं। 
डॉ. एसएस गुर्जर, आरएमओ जिला अस्पताल 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics