मध्यप्रदेश शासन की कार से काटी विधायक की जेब, तीन दबौचे, 5 लाख में से 13 हजार बरामद

शिवपुरी। जिले के इंदार थाना क्षेत्र के खतौरा में सांसद सिंधिया की धन्यवाद सभा में शिरकत करने गए विधायक सहित नेताओं की जेबों को काटने बाले शातिर बदमाशों को पुलिस ने मध्यप्रदेश शासन लिखी कार के साथ दबौच लिया है। इस मामले में सबसे अजीब बात यह रही कि चोरी गए 5 लाख रूपए में से पुलिस महज 13 हजार रूपए ही बरामद कर पाई। 

जानकारी के अनुसार कोलारस उपचुनाव के बाद क्षेत्रीय सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया खतौरा से धन्यवाद रैली निकालकर कोलारस में सभा करने आए हुए थे। इस दौरान आरोपी विकाश तिवारी,चंदन नामदेव और विनोद नामदेव ने शातिर तरीके से हाथ की सफाई करते हुए कांग्रेस की चदेंरी विधायक डग्गी राजा, कांग्रेसी नेता धर्मवीर यादव अलावदी, महेश सिंह यादव खतौरा, सरपंच रामजी आचार्य, भरत लोधी कुटवारा, राजकुमार कुटवारा, ब्रजेन्द्र सिंह पडरिया, मुकेश यादव ,पप्पू सिंह बरोदिया, महेन्द्र सिंह खतौरा सहित 2 दर्जन नेता और आमजन के जेबो पर जेबकतरो ने हाथ साफ कर दिया था। 

उसके बाद ताबडतोड़ हुई बारदातों के बाद पुलिस संक्रिय हुई और देहरदा तिराहे पर लगे टोल टैक्स से पुलिस ने इन जेबकतरों को पकड़ लिया। पुलिस का कहना है कि जब सिंधिया की सभा खत्म हुई तो कई लोगों ने आकर कहा कि उनकी जेब कट गई है। कुछ लोगों की जेब से 80 हजार तो किसी की जेब में रखे 50 हजार रुपए चोरी हो गए। इसके बाद पुलिस सक्रिय हुई और उसने आरोपियों की तलाश शुरु की तो टोल टैक्स से इनकी पहचान हो गई। पुलिस का कहना है,ये तीनों शिवपुरी शहर के ही रहने वाले हैं और जेबकतरों के रुप में ही इनकी पहचान है। 

जेबकतरे सरकारी बोलेरो का करते थे उपयोग 
पुलिस का कहना है कि मप्र शासन लिखी पीले रंग की बोलेरो कार का उपयोग ये कर रहे थे। पुलिस का कहना है कि पकड़ा गया आरोपी विकास तिवारी ड्रायवर भी है और वो गाड़ी चलाना जानता है। इतना ही नहीं तीनों जेबकतरे हाईटेक तकनीक से लैस हैं। 

ये जेब काटने के बाद मोबाइल और पर्स दोनों को ही फेंक देते थे। पुलिस ने इनके पास से कितनी रकम बरामद की है ये पता नहीं चल पाया है लेकिन उनका मानना है कि लोगों के द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत में करीब 4 से 5 लाख रुपए बोल रहे थे, लेकिन पुलिस अभी इतनी राशि बरामद नहीं कर पाई है। 

सीएम की सभा में भी है उक्त चोर बांछित
कोलारस क्षेत्र में उपचुनाव के दौरान देवेन्द्र जैन का फार्म भरवाने आए सीएम की सभा में भी उक्त चोरों ने चोरी की बारदातों को अंजाम दिया था। जिसमें अशोक अग्रवाल के 30 हजार रूपए उक्त चोरों ने पार कर दिए थे। इस मामले की वीडियों भी पुलिस को उपलब्ध हो गई थी। लेकिन पुलिस इन्हे चिन्हित नहीं कर पा रही थी। वीडियों रिकोर्डिग के बाद पुलिस ने इन आरोपीयों को चिन्हित कर लिया है। 

इनका कहना है-
सभी आरोपी सरकारी बोलेरो का उपयोग कर रहे थे। ये गाड़ी कहां लगी है और इनके पास कैसे आई, इसकी जांच हम कर रहे हैं आज चोरों को अदालत में पेश किया गया है जहां माननीय न्यायालय ने उक्त चोरों को जेल भेज दिया है।
गोपाल चौबे, थाना प्रभारी इंदार 
Share on Google Plus

About Yuva Bhaskar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

0 comments:

-----------

analytics