रंगारंग कार्यक्रमों के साथ मना CRPF का 9वां स्थापना दिवस

शिवपुरी। आतंकवाद के विरूद्ध विद्रोहिता की लड़ाई ही नहीं बल्कि देश प्रेम और आमजन के बीच केन्द्रीय कर्मियों का बल मिलनसार और परस्पर समन्वय बना रहे इसके लिए प्रतिवर्ष सीआरपीएफ सीआईएटी बल स्थापना दिवस का आयोजन करता है ताकि बल को जहां ऊर्जा मिले और अपनी आधुनिक कार्यप्रणाली के सहारे वह जनता को बताते है कि हम किस प्रकार से आतंकवाद और नक्सलियों के बीच विद्रोहिता की लड़ाई लड़ते है।

आमजन व फोर्स के बीच दूरियां ना हो और एक-दूसरे के प्रति सम्भाव का भाव बना रहे इसके लिए मेले में आमजन की आवाजाही की जाती है हमने  देखा है कि सिविलियन और फोर्स के मधुर संबंध निश्चित रूप से देश के विकास का अहम हिस्सा है। उक्त उद्गार प्रकट किए सीआरपीएफ सीआईएटी के आई.जी. पी.के.पाण्डे ने जो स्थानीय सीआरपीएफ सीआईएटी परिसर स्कूल में आयोजित 9वें स्थापना दिवस कार्यक्रम को मुख्य अतिथि की आसंदी से संबोधित कर रहे थे। इस दौरान सपित्नक शामिल आईजी श्री पाण्डे की धर्मपत्नि श्रीमती शशि पाण्डे द्वारा फीता काटकर मेले का विधिवत शुभारंभ किया गया।

सर्वप्रथम आईजी श्री पाण्डे ने कमाण्डेट जे.पी.बलाई, द्वितीय कमान अधिकारी यादवेन्द्र यादव के साथ मेले में लगी स्टॉलो का भ्रमण किया और यहां होने वाली कई प्रकार की प्रतियोगिताओं में स्वयं आगे आकर उसमें भाग लेते हुए प्रतियोगिताओं का शुभारंभ भी किया। कार्यक्रम में कमाण्डेट जे.पी.बलई द्वारा सीआईएटी के 9वें स्थापना दिवस कार्यक्रम के बारे में विस्तृत जानकारी दी।

जबकि द्वितीय कमान अधिकारी यादवेन्द यादव द्वारा  आतंकवाद विद्रोहिता को लेकर सीआरपीएफ सीआईएटी की कार्यप्रणाली के बारे में बताया गया। इसके अलावा मेले में लगने वाली स्टॉलों का मीडियाकर्मियों, सेना के अधिकारी, जवानों व कर्मचारियों ने सपरिवार लुत्फ उठाया। इस अवसर पर आभार प्रदर्शन संस्थान के उप कमाण्डेट प्रकाश बढ़ोलिया द्वारा व्यक्त किया गया। 

आधुनिक हथियारों की प्रदर्शनी ने मोहा मन
सीआरपीएफ सीआईएटी के स्थापना दिवस के अवसर पर मेले में लगी हथियारों की प्रदर्शन आकर्षण का केन्द्र बनते हुए जनता का मोहती हुई नजर आई। यहां तैनात जवानों ने प्रदर्शनी के दौरान स्कूली बच्चो और सिविलयन को बताया कि किस प्रकार से केरिपीबल आतंकवाद और नक्सलीयों से लोहा लेकर उन्हें परास्त करता है इसके अलावा मेले में जिन आधुनिक हथियारों का उपयोग जवान अपनी रक्षा और दुश्मन का खात्मा करने में प्रयोग करते है।

उसमें आधुनिक हथियारों में सी.जी.आर.एल., ए.जी.एस., यू.व्ही.जी.एल. है जो कि बड़े क्षेत्रों में दूर से इनकी मारक क्षमता अधिक होती है और यह हथियार घने जंगलों में भी अपने दुश्मन और नक्सलियों से किस प्रकार से निबटा जाए को प्रदर्शित करता है। इसके अलावा एक्स.95 हथियार छोटा भले ही है लेकिन सुरक्षा में यह हथियार कारगर साबित होता है। सैकड़ों लोगों ने हथियार प्रदर्शनी का अवलोकन किया।
Share on Google Plus

About Yuva Bhaskar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

0 comments:

-----------