जीएसटी और सूखे ने छीनी दिवाली की रौनक, 5 दिन शेष, बाजार सूने

शिवपुरी। दीपावली पर्व को लेकर लोगों का उत्साह देखने लायक रहता है और इस पर्व से पूर्व लोग साफ-सफाई और सजावट के साथ-साथ कपड़े और स्वर्ण आभूषणों को खरीदते हैं, लेकिन इस वर्ष लोगों का उत्साह मंदी के चलते कम दिखाई दे रहा है। कल पुष्य नक्षत्र के दौरान भी बाजार में कुछ खासा प्रभाव नहीं रहा। हालांकि दीपावली पर इस बार त्रिग्रही योग भी बन रहा है और धनतेरस, रूपचर्तुदर्शी, दीपावली पर खरीददारी का महायोग है और आज भी पुष्य नक्षत्र है, लेकिन दोपहर तक बाजारों में खरीददारों का टोटा लगा हुआ है। दीपावली में अब पांच दिन ही शेष बचे हैं और बाजार की स्थिति देखकर व्यापारी चिंताग्रस्त हैं। 

सर्राफा व्यापार से जुड़े व्यापारियों का कहना है कि बाजार पर जीएसटी के साथ-साथ अल्पवर्षा की मार पड़ रही है। जिससे यह स्थिति उत्पन्न हुई। पिछले वर्ष बाजार में जहां अच्छा उछाल था। वहीं इस वर्ष हालात चिंताजनक है। 

जीएसटी से मध्यम और निम्न स्तर के परिवारों पर पड़ रहा है असर 
सर्राफा व्यवसायी से जुड़े नबाव सर्राफ के संचालक तेजमल सांखला और शिवम ज्वैलर्स के मनीष सोनी और नितिन सोनी ने जानकारी देते हुए बताया कि आभूषणों पर 3 प्रतिशत जीएसटी लगाई गई है इससे व्यापार पर असर भी पड़ा है, लेकिन यह असर उन बड़े-बड़े लोगों के लिए नहीं जो धनवान हैं। 

इसका असर उन मध्यम और निम्नस्तर के परिवारों पर पड़ा है जो दीपावली पर सोने-चांदी के आभूषण खरीदते थे। पिछले वर्ष 22 कैरेट सोने की कीमत 28 हजार 500 रूपए थी, लेकिन इस वर्ष यह कीमत 29 हजार रूपए हो गई है जिसमें जीएसटी अलग है। वहीं 24 कैरेट सोना पिछले वर्ष की तुलना में 800 रूपए प्रति 10 ग्राम महंगा है जिस पर जीएसटी अलग से है। यही स्थिति चांदी की है जो पिछले वर्ष 38 हजार से बढक़र 41 हजार 500 रूपए पहुंच गई है। जिसमें जीएसटी भी जोड़ी जाएगी। 

शिवा आभूषण के संचालक नीतू सोनी का कहना है कि एक साथ जीएसटी और सूखे ने लोगों पर ग्रहण लगा दिया है। जिससे सर्राफा बाजार में न तो पहले जैसी रोनक है और न ही दुकानदारी अब तो वस धनतेरस का इंतजार है। वही न्यू आर्ची ज्वेल्र्स के संचालक पंकज सोनी ने बताया है कि किसानों के पास पैसा न होने और जीएसटी की मार ने सार्राफा व्यवसाय को चौपट कर रखा है। 

आज शनि पुष्य में खरीददारी करना होगा शुभ
कल 13 अक्टूबर और आज 14 अक्टूबर सर्वार्थ सिद्धि योग है और इन दो दिनों में खरीददारी करना शुभ माना जाता है। आज शनिवार को शनि पुष्य होने के कारण सोने-चांदी के आभूषणों के साथ-साथ वाहन खरीदना शुभ होगा। जिसका मुहुर्त सुबह 7 बजे से शुरू होकर शाम तक चलेगा। 

कपड़ा व्यापार में उछाल के आसार
दीपावली पर हर व्यक्ति कपड़ों की खरीददारी करता है जिससे कपड़ा व्यापारियों को उम्मीद है कि उनका व्यापार हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी चलेगा। इस व्यवसाय से जुड़े पिक एण्ड पैक के संचालक उमेश शर्मा, टुडे इम्प्रेशन के गौरव खण्डेलवाल का मानना है कि जीएसटी लागू होने से उनके व्यापार पर ज्यादा कोई खासा असर नहीं पड़ा है। 

जिससे उनका व्यापार पूर्व की तरह ही चलेगा। एक  दीपावली त्यौहार ही होता है जिस पर बड़े से बड़ा और छोटे से छोटा व्यक्ति भी नए कपड़े खरीदता है। ऐसी स्थिति में कपड़ा व्यापारियों को ज्यादा चिंता करने की आवश्यकता नहीं है। उनका मानना है कि दीपावली से ही उनका सीजन प्रारंभ होता है और सहालग तक उनका व्यापार चलता है। 
Share on Google Plus

About Yuva Bhaskar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

0 comments:

-----------