Tuesday, May 30, 2017

सिंध का पानी: दोशियान ने फिर पकड़ाया लॉलीपॉप

शिवपुरी। शहर के प्यासें कंठों के लिए मृग मारीचिका बनी सिंध परियोजना की परेशानीयां घटने का नाम ही नहीं ले रही। जनता की तो छोडों अब तो दोशियान मंत्री विधायक और कलेक्टर के आदेश को भी सरेआम ठेंगा दिखा रही है। अब तो सिंध जलावर्धन योजना का काम कर रही दोशियान कंपनी ने स्थानीय विधायक और प्रदेश सरकार की मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया को डेड लार्ईन दी थी कि वह 30 मर्ई तक  सिंध का पानी सतनवाड़ा स्थित फिल्टर प्लांट पर हर हालत में पहुंचा देंगे। इसके पहले दोशियान कंपनी ने कलेक्टर ओपी श्रीवास्तव को 15 मर्ई की डेडलार्ईन दी थी।

लेकिन आज 30 मर्ई को भी सिंध का पानी फिल्टर प्लांट नहीं आया। वहीं दोशियान कंपनी द्वारा शिवपुरी वासियों को सिंध जल मुहैया कराने की डेडलार्ईन 30 जून दी है। परन्तु अभी जिस हालत में सिंध जलावर्धन योजना का कार्य चल रहा है उससे तय लग रहा है कि 30 जून तक शिवपुरी सिंध का पानी नहीं पहुंचेगा। 

सूत्र बताते हैं कि मड़ीखेड़ा से सतनवाड़ा तक सिंध का काम अभी काफी शेष है। इंटैकबैल में लगे पंपों में पैनल और बैरिंग लगने का कार्र्य अभी चल रहा हैै और संबंधित ठेकेदार का कहना है कि इस कार्य में कम से कम 3-4 दिन लगेंगे। फिल्टर प्लांट पर अभी बिजली कनेक्शन नहीं लिया गया है और इस कार्र्य में भी 3-4 दिन लगने की संभावना है। 

सतनवाड़ा से फिल्टर प्लांट तक सडक़ पर आ गई पार्ईप लार्ईन को हटाने का कार्र्य भी अभी जारी है। हालंाकि ठेकेदार खलील खान का कहना है कि काम पूरा हो गया है बस अभी मेकअप जारी है औैर मेकअप में समय लगता है। उन्होंने माना काम में देरी की यह भी बजह है कि रेत उपलब्ध नहीं हो रही वहीं फोरेस्ट विभाग पेड़ काटने नहीं दे रहा। इंटैकबैल से फिल्टर प्लांट तक हार्ईड्रो टेस्टिंग कार्य भी अभी होना शेष है। 

पहले यह तय किया गया था कि 500-500 मीटर में हाईड्रो टेस्टिंग करार्ई जाए, लेकिन यदि ऐसा किया गया तो 6 माह लगेेंगे, इसलिए देरी से बचने हेतु एक साथ हार्ईड्रो टेस्टिंग करने का निर्र्णय लिया गया है। दोशियान कंपनी के एक अधिकारी ने अपना नाम न छापने की शर्र्त पर बताया कि जल्दी से जल्दी भी यदि हम करेंगे तो 10 जून से पहले फिल्टर प्लांट तक पानी नहीं आएगा। 

ऐसी स्थिति में सवाल यह है कि 30 जून तक शिवपुरी कैसे पानी पहुंचेगा। सतनवाड़ा से शिवपुरी तक अभी काफी काम शेष है। खूबत घाटी में इन दिनों पेडस्टल लगाने का कार्र्य जारी है। शहर में भी पार्ईप लार्ईन डाली जा रही है। योजना से जुड़े सूत्रों का कथन है कि यदि फिल्टर प्लांट  से शिवपुरी तक तेजी से काम चला तो पानी आने में कम से कम डेढ़ माह लगेगा। इससे यह तय लग रहा है कि 30 जून तक शिवपुरी वासियों को सिंध का पानी नहीं मिलेगा। 

बात करने से कन्नी काट रहे हैं दोशियान के अधिकारी
दोशियान कंपनी द्वारा अभी तक जितनी भी डेडलाईन दी गर्ई हैं। उस तिथि तक काम पूरा नहीं हुआ है। इसलिए अब दोशियान कंपनी के अधिकारी बात करने से कन्नी काट रहे हैं। कंपनी के जीएम महेश मिश्रा से उनके मोबाइल पर आज काफी समय तक संपर्र्क करने का प्रयास किया लेकिन 10-12 बार तो उन्होंने मोबाईल नहीं उठाया। अंत में उन्होंने मोबाईल उठाया तो यह कहकर काट दिया कि आवाज नहीं आ रही है। दूसरे अधिकारी देवेन्द्र विजयवर्गीय से भी संपर्क स्थापित नहीं हो पाया है।