पुलिस ने पूर्व सरपंच का छोड़ा, मृतक के परिजनों ने घेरा थाना

शिवपुरी। बीती रात्रि बगेदरी रोड़ पर पूर्व सरपंच सुरेंद्र दुबे के वाहन ने एक बाइक में टक्कर मार दी जिससे बाइक पर सवार एक युवक की मौत हो गई। जबकि दो युवक गंभीर रूप से घायल हो गए। पुलिस ने इस मामले में वाहन चालक सुरेंद्र दुबे को गिरफ्तार कर लिया, लेकिन कुछ समय बाद आरोपी को पुलिस ने छोड़ दिया और एफआईआर में सुरेंद्र दुबे के स्थान पर अज्ञात लिख देने से मृतक के परिजन भडक़ गए और उन्होंने आज सुबह थाने का घेराव करते हुए पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए शव को सडक़ पर रखकर जाम लगा दिया है। 

मृतक के परिजनों की मांग थी कि आरोपी को गिरफ्तार कर एएसआई कमल बंजारा पर कार्यवाही की जाए। स्थिति को बिगड़ते देख दिनारा और अमोला की पुलिस फोर्स को मौके पर बुलाया गया। बाद में मौके पर पहुंचे तहसीलदार नवनीत शर्मा ने मृतक के परिजनों को समझाया और मामले में उचित कार्यवाही करने का आश्वासन दिया। साथ ही एफआईआर में आरोपी का नाम जोडऩे के बाद गुस्साएं परिजनों ने शव का पीएम कराने के लिए स्वीकृति दी और प्रदर्शन समाप्त किया। 

जानकारी के अनुसार बीती शाम 6 बजे बगेदरी रोड़ पर मोटरसाइकिल से जा रहे कल्लू जाटव, रामसिंह जाटव और मुकेश जाटव में टवेरा कार क्रमांक एमपी 04 टीए 1042 ने पीछे से टक्कर मार दी इससे बाइक सवार तीनों युवक गंभीर रूप से घायल हो गए। जहां रामसिंह और मुकेश को शिवपुरी रैफर कर दिया। वहीं कल्लू जाटव को गंभीर हालत में उसके परिजन झांसी ले गए। जहां झांसी पहुंचने से पूर्व ही कल्लू ने दम तोड़ दिया। 

इसी दौरान पुलिस ने कार चला रहे पूर्व सरपंच सुरेंद्र दुबे को भी गिरफ्तार कर उसे थाने ले आई, लेकिन रात्रि में आरोपी सुरेंद्र दुबे को मामले में कार्यवाही कर रहे एएसआई कमल बंजारा ने छोड़ दिया। यहां तक कि एफआईआर में आरोपी का नाम तक नहीं लिखा। आज सुबह जब मृतक के परिजन एफआईआर की कॉपी लेने थाने पहुंचे तो एफआईआर में सुरेंद्र के नाम का उल्लेख नहीं था जिससे परिजन भडक़ गए और उन्होंने अपने समाज के लोगों को एकत्रित कर थाने का घेराव कर पुलिस पर लेनदेन कर आरोपी को छोडऩे और एफआईआर में नामजद आरोपी के स्थान पर अज्ञात लिखने का आरोप लगाया। 

पूर्व सरपंच ने घायल रामसिंह को पूर्व में दी थी जान से मारने की धमकी 
मृतक कल्लूराम जाटव के परिवार से जुड़े नारायणसिंह जाटव ने जानकारी देेते हुए बताया कि कुछ समय पूर्व दुर्घटना में घायल रामसिंह जाटव की आरोपी पूर्व सरपंच सुरेंद्र दुबे ने कपिलधारा योजना के तहत रूपए न मिलने को लेकर मारपीट की थी और उसे जान से मारने की धमकी दी थी इस घटना को लेकर रामसिंह ने करैरा थाने में शिकायती आवेदन देकर कार्यवाही की मांग की थी और पुलिस ने इस मामले में कोई कार्यवाही नहीं की। इसी बात को लेकर आरोपी सुरेंद्र दुबे रामसिंह को मारने की फिराक में था और कल उसे जान से मारने के लिए आरोपी ने यह घटना कारित की, लेकिन रामसिंह के स्थान पर कल्लू की मौत हो गई। 

इनका कहना है
मृतक के परिजनों को कुछ गलतफहमी हो गई थी कि एफआईआर में मृतक का नाम नहीं लिखा जबकि एफआईआर में स्पष्ट उल्लेख है कि आरोपी टवेरा वाहन का चालक साथ ही परिजनों का आरोप था कि पुलिस ने आरोपी को छोड़ दिया है ऐसा भी कुछ नहीं है, क्योंकि 304 ए में आरोपी को थाने से ही जमानत देनी पड़ती है और जमानत के बाद ही आरोपी को छोड़ा गया है, लेकिन इस बात की जांच कराई जाएगी कि आरोपी ने घायल रामसिंह को जान से मारने की धमकी दी थी और इसका आवेदन पुलिस को दिया था। 
सुनील कुमार पांडे, एसपी, शिवपुरी 
Share on Google Plus

About Bhopal Samachar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

0 comments:

-----------