खतरे में यात्रियों की जान पुलिस व प्रशासन उदासीन

करैरा। करैरा से गुजरने वाली अधिकांश बसों में यात्री जान जोखिम में डालकर सफर करने को मजबूर हैं। प्रशासन की अनदेखी और लापरवाही के कारण नगर की सड़कों पर ओवरलोड वाहन सरपट दौड़ रहे हैं जो न केवल यातायात नियमों को ठेंगा दिखा रहे है बल्कि आए दिन हादसों में भी सबब बन रहे हैं। आए दिन सामने आ रही दुर्घटनाओं के बावजूद जिम्मेदार अधिकारी ओवर लोडिंग को रोकने के लिए कोई कारगर प्रयास नहीं कर रहे हैं। पारिणाम स्वरूप बस संचालक मनमानी कर रहे हैं। साल भर यात्रियों को धक्कामुक्की के बीच बसों की छतों पर बैठकर तथा गेटों पर लटक कर सफर करने को मजबूर होना पड़ रहा है।

यात्री बसें बनी मालवाहक
करैरा से दतिया, ग्वालियर चलने वाले रूट पर अधिकांश बसें सवारियों से ज्यादा माल ढो रही हैं जिससे एक तरफ कर की चोरी हो रही है तो वहीं दूसरी और यात्रियों की जान के साथ खिलवाड़ भी किया जाता है। इसके साथ ही माल चढाने और उतारने में भी समय लगता है जिससे यात्रियों को मजबूरी बस इन बसों में घटों तक बैठे रहना पड़ता है।
Share on Google Plus

About Yuva Bhaskar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

0 comments:

-----------