बाल भवन में ताला लगाने को लेकर शिक्षक और सफाईकर्मी भिड़े

शिवपुरी। वीर सावरकर पार्क में सेवा शिवपुरी द्वारा बाल भवन में वर्षों से निशुल्क शिक्षा दिए जाने के लिए कोचिंग का संचालन किया जाता है। उक्त कोचिंग मधुसूदन चौबे सर द्वारा दी जाती थी, लेकिन अब उक्त कोचिंग उनके ही द्वारा पढ़ाये गये छात्रों द्वारा दी जाती है जिसे लेकर पार्क प्रबंधन और कोचिंग संचालकों के बीच लंबे समय से विवाद चला आ रहा है और आज दोपहर वहां मौजूद सफाई कर्मचारी धर्मेंद्र खरे का विवाद कोचिंग पढ़ाने वाले शिक्षक से बाल भवन में ताला लगाने को लेकर हो गया। जिससे मौके पर तनावपूर्ण स्थिति निर्मित हो गई। बाद में वार्ड क्रमांक 19 की पार्षद विनीता गुर्जर के पति रामू गुर्जर वहां पहुंचे और उन्होंने बीच बचाव किया। तब कहीं जाकर मामला शांत हुआ।

जानकारी के अनुसार बाल भवन में आज दोपहर कोचिंग पढ़ाने वाले शिक्षक ने बाल भवन का प्रतिदिन की तरह शटर लगाकर ताला लगा दिया था। उसी समय वहां पर सफाईकर्मी के रूप में पदस्थ कर्मचारी धर्मेंद्र खरे ने ताला न लगाने के लिए कहा तो दोनों के बीच विवाद हो गया। 

सफाईकर्मी का आरोप है कि शिक्षक ने उसे धक्का मार दिया और उसके साथ अभद्रता कर उसे धमकी दे दी। जबकि शिक्षक पार्षद पति द्वारा समझाये जाने के बाद बाल भवन में ताला लगाकर चला गया जिस कारण उससे चर्चा नहीं हो सकी। 
Share on Google Plus

About Yuva Bhaskar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

3 comments:

  1. सम्मानीय जिन पत्रकार महोदय ने दिनांक 9.9.17 को बाल भवन से संबंधित समाचार का प्रकाशन किया है यह असत्य है, पत्रकार महोदय को अवगत हो कि
    1- परम आदरणीय मधुसूदन चौबे सर की कक्षाएं नियमित चल रही हैं
    2- बाल भवन की सम्पूर्ण व्यवस्था पूर्व एवं वर्तमान विद्यार्थी करते हैं, चाहे वह सफाई हो, पार्क प्रबंधन या नगर पालिका ने कभी भी बल भवन की सफाई नहीं कराई है।
    3- पार्षद पति महोदय(श्री रामू गुर्जर) ने असभ्य, अशिष्ट व्यवहार किया है जिसका प्रमाण बाल भवन के विद्यार्थी एवं इस वाक्य के दौरान मौजूद जन समूह है।
    4- बाल भवन आदरणीय चौबे द्वारा संस्कारित एक ऐसी व्यवस्था है, जहां अध्ययन कर कई विद्यार्थी उच्च पदों, प्रतिष्ठित व्यवसायों, सामाजिक क्षेत्रों में सफलता पूर्वक कार्य कर रहे हैं, जिसका महत्व एवं प्रमाण सभी के समक्ष है।
    5- ताला लगाने की बात जो आई है तो सभी को विदित हो बाल भवन निःशुल्क शिक्षा, विद्यार्थी के सर्वांगींण विकास के लिए समर्पित है। आदरणीय चौबे सर कहते हैं कि यह निःशुल्क तो काम चलाऊ हो ऐसा न हो, बेस्ट होना चाहिए अतः शिक्षा के लिए आवश्यक सभी आधुनिक संसाधनों की व्यवस्था सर के पूर्व विद्यार्थियों, परमार्थी जन द्वारा की है, इस कारण बाल भवन को खुला कैसे छोड़ा जा सकता है?
    हम सम्मानीय पत्रकार महोदय द्वारा 8.9.17 को प्रकाशित खबर का खंडन करते हैं, और वास्तविकता को सभी के समक्ष प्रस्तुत करने की सभी पत्रकारजन विनम्र प्रयास करेंगे ऐसी हमारी अपेक्षा है।
    -विजित कुमार जैन, बाल भवन, वीर सावरकर उद्यान, शिवपुरी, म.प्र., भारत
    फ़ोन- 0749240468
    व्हाट्सएप्प : 07492404684
    ईमेल : sevashivpuri1988@gmail.com

    ReplyDelete
  2. गलत खबरे न छापे , बिना सच को जाने खबरो का प्रकाशन नही करना चाहियें

    ReplyDelete

प्रतिक्रियाएं मूल्यवान होतीं हैं क्योंकि वो समाज का असली चेहरा सामने लातीं हैं। अब एक तरफा मीडियागिरी का माहौल खत्म हुआ। संपादक जो चाहे वो जबरन पाठकों को नहीं पढ़ा सकते। शिवपुरी समाचार आपका अपना मंच है, यहां अभिव्यक्ति की आजादी का पूरा अवसर उपलब्ध है। केवल मूक पाठक मत बनिए, सक्रिय साथी बनिए, ताकि अपन सब मिलकर बना पाएं एक अच्छी और सच्ची शिवपुरी। आपकी एक प्रतिक्रिया मुद्दों को नया मोड़ दे सकती है। इसलिए प्रतिक्रिया जरूर दर्ज करें।