महाराष्ट्रीयन समाज: ग्वालियर के कलाकरों ने बिखेरी संगीत की स्वर लहरी

शिवपुरी। महाराष्ट्र समाज शिवपुरी के श्री गणेश मंदिर पर वर्ष 2017-18 के श्री जी महोत्सव में शुक्रवार को ग्वालियर के कलाकारों नें मराठी एवं हिन्दी भाषा में भगवान श्री गणेश की स्तुति करते हुए रोचक प्रस्तुतियाँ दीं। उन्होंनें कई चित्रपट एवं भावगीत पूरी लयताल के साथ सुनाए कि दर्शक काफी देर तक स्वर की लहरियों में गोते लगाते रहे। फिजिकल रोड स्थित श्री गणेश मंदिर परिसर में श्री साधना संगीत कला केन्द्र ग्वालियर के गायक कलाकार श्रीमती स्मिता अविनाश महाजनी, कु. दिष्टा दीपक पाटनकर, कु. प्रतिक्षा सदाशिवराव शिंदे, कु. हर्षाली विवेक नाईक, कु. योगिनी पद्माकर ताम्बे, पियुष पद्माकर ताम्बे नें देर रात्रि तक लगभग 4 घन्टे तक विभिन्न स्वरों एवं प्रसंगों में ईश्वर को याद किया। 

सभी कलाकारों नें कहा कि संगीत वह साधना है जिसमें ईश्वर का प्रत्यक्ष वास होता है। उन्होंनें कहा कि उनका महाजनी ग्रुप अनेक वर्षों से सुगम संगीत की प्रस्तुति ग्वालियर अंचल में देता आ रहा है। इस क्रम में आज शिवपुरी के गणेश मंदिर पर दर्शकों के मध्य आने का अवसर मिला है। 

प्रारंभ में कलाकारों का महाराष्ट्र समाज ट्रस्ट के अध्यक्ष डॉ. डी.एस. धुवेकर, समाज के अध्यक्ष विनय राहुरीकर, संतोष दर्शनी, मधुकर शेवगांवकर, नितिन मन्दसौरवाले, भक्ति बेहरे, श्रीमती नीलम जावडेकर, आदि नें माल्यार्पण कर स्वागत किया। महाराष्ट्र समाज शिवपुरी की ओर से कलाकारों को अभिनंदन पत्र श्रीमती शकुंतला चालीसगांवकर, डॉ. एन.व्ही. मुले, दिलीप शिधोरे, श्रीमती अल्पना देसाई, संजय वांगीकर, डॉ. डी.एस.धुवेकर, विनय राहुरीकर आदि नें भेंट किए। कार्यक्रम में बडी संख्या में दर्शक उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन समाज के सचिव पुरूषोत्तम उमडेकर नें किया।

श्री जी का चल समारोह आज
महाराष्ट्र समाज शिवपुरी के गणेश चतुर्थी 25 अगस्त से विराजे श्री जी का चल समारोह आज निकाला जायेगा। रविवार सांय 5 बजे महाराष्ट्र समाज शिवपुरी से जाधव सागर के गौरी कुण्ड में श्री जी का विसर्जन किया जायेगा। समाज के पदाधिकारियों नें समाज बंधुओं से सपरिवार उपस्थित होने की अपील की है।
Share on Google Plus

About Yuva Bhaskar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

0 comments:

-----------