सेवा के क्षेत्र में जागरूकता का कार्य कर रही समाजसेवी संस्थाऐं: एसपी पाण्डे

शिवपुरी। समाजसेवी संस्थाऐं समय की उपयोगिता के साथ जनसेवा कार्य करती है सेवा कार्य में जागरूकता का बहुत महत्व है और मरीजों को यदि उपचार दिलाने के लिए किसी तरह के शिविरों का आयोजन हो तो निश्चित रूप से उसकी उपादेयता बढ़ जाती है और अधिक से अधिक लोग इस तरह के स्वास्थ्य शिविरों से लाभान्वित होते है, यदि नागरिक जागरूक हो जाए तो दवा की आवश्यकता ही नहीं पड़ेगी। 

जागरूकता की इस पहल को अपने मुक्त कण्ठ से सराह रहा थे पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार पाण्डे जो स्थानीय मध्यदेशीय अग्रवाल धर्मशाला में समाजसेवी संस्था लायन्स व लायनेस क्लब ऑफ शिवपुरी साउथ के तत्वाधान में आयोजित नि:शुल्क मधुमेह(डायबिटीज)शिविर को मुख्य अतिथि की आसंदी से संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम में विशेषज्ञ डायबिटीज चिकित्सक डॉ.राजेश्वर सिंह एवं डॉ.श्रीमती मनीषा सिंह के अलावा जिला संयोजक मानव अधिकार आयोग आलोक एम.इन्दौरिया, लायन्स साउथ अध्यक्ष एमजेएफ ला.महिपाल अरोरा, सचिव राजेश गुप्ता राम, कोषाध्यक्ष अजयराज सक्सैना, लायनेस साउथ अध्यक्ष श्रीमती सुरेखा माहेश्वरी, सचिव श्रीमती कोमल राणा व कोषाध्यक्ष श्रीमती मोनिका जैन सहित शिविर संयोजक मयंक भार्गव मंचासीन थे।

कार्यक्रम की शुरूआत मॉं सरस्वती के चित्र पर दीप प्रज्जवलन व माल्यार्पण के साथ हुआ तत्पश्चात लायन के अन्य पदाधिकारियों व सदस्यों ने अतिथियों एवं विशेषज्ञ डायबिटीज चिकित्सकों का पुष्पगुच्छ कर स्वागत किया। शिविर का संचालन श्रीमती प्रियंका भार्गव ने जबकि आभार प्रदर्शन सचिव राजेश गुप्ता राम द्वारा व्यक्त किया गया। 

नियमित दिनचर्या रोकती है डायबिटीज का रोग
इस दौरान डायबिटीज बीमारी से पीडि़त मरीजों को बीमारी के लक्ष्य व उपचार बतातें हुए डॉ.राजेश्वर सिंह ने कहा कि रोग कोई भी हो यदि खान-पान, रहन-सहन, सोना-उठना आदि नियमित दिनचर्या में शामिल हो तो मनुष्य कभी बीमारी ही नहीं होगा, आज के समय में डायबिटीज रोग तो महामारी के समान है जो अधिकांशत: हर मनुष्य को हो रहा है।

इस रोग के कारण मनुष्य कमजोर हो जाता है आंखोंं में खुजली, एल्कोहल, आंख,किडनी,नपुंसुकताआदि पर भी डायबिटीज बीमारी से प्रभाव पड़ता है। यदि डायबिटीज से ग्रसित मरीज है तो उसे समय-समय पर चैकअप कराते रहना चाहिए और 70 से 100 के बीच डायबिटीज की परसेंट रहना चाहिए उससे अधिक नहीं। इसके अलावा नियमित दिनचर्या अपनाऐं तो इस तरह के रोगों से स्वत: ही मुक्ति मिल जाएगी। इस अवसर पर शिविर में आए 2 सैकड़ा मरीजों को स्वास्थ्य लाभ मिला और उन्हें डायबिटीज के रोग, कारण, उपचार व लक्ष्ण बताए गए। 

शिविर सफल बनाने में इनका रहा विशेष सहयोग 
शिविर को सफल बनाने में विशेष सहयोग शिविर संयोजक ला.मयंक भार्गव (द्वितीय उपाध्यक्ष के नेतृत्व में)-ला.प्रियंका भार्गव, एमजेएफ आलोक गुप्ता जोन चेयरपर्सन-1,रीजन 3 एवं चेयरपर्सन स्वास्थ्य समिति, ला.तनु गुप्ता, डॉ.प्रदीप विश्वास सदस्य स्वास्थ्य समिति, ला.नमिता विश्वास, ला.सौरभ सांखला सदस्य स्वास्थ्य समिति, ला.सोनाली सांखला, ला.रीतेश सांखला सदस्य स्वास्थ्य समिति वं ला.रूचि सांखला के अतिरिक्त ला.नरेन्द्र जैन भोला, राजेन्द्र शिवहरे, हेमंत नागपाल, राकेश जैन, पीडी सिंघल, जितेन्द्र राणा, मुकेश जैन खरई, राजेन्द्र गुप्ता, गंगाधर गोयल, गिर्राज ओझा, पवन जैन, पारस जैन व लायनेस  श्रीमती राज बिन्दल, श्रीमती रूचि जैन, श्रीमती शोभा सिंघल, श्रीमती वंदना शिवहरे, श्रीमती मीना नागपाल, श्रीमती निशा गुप्ता, श्रीमती नीलम अरोरा, श्रीमती अनीता गुप्ता आदि शामिल रहें। 
Share on Google Plus

About Yuva Bhaskar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

0 comments: