Saturday, September 09, 2017

सत्ता की खनक: आयोग अध्यक्ष की बहू कर रही है अनुपस्थित घोटाला


शिवपुरी। नैतिकिता का पाठ पढाने वाली भाजपा के नेता स्वयं नैतिकता के अर्थ भूल गए है। नैतिकता के नाम पर दूसरो को पानी पी-पीकर कोसने वाली भाजपा के एक राज्य मंत्री दर्जा प्राप्त की बहू सत्ता की खनक में लगातार अनुपस्थित घोटाला कर रही है, और शासन से हर माह वेतन भी ले रही है। मप्र में बाल संरक्षण आयोग अध्यक्ष राघवेन्द्र शर्मा की बहू श्रीमती निधि शर्मा यूं तो शिक्षा विभाग में शिक्षक के पद पर ग्राम चाड़ में पदस्थ है और वह लगातार विवाह पूर्व से अपना दायित्व निर्वहन कर रही थी लेकिन विवाह बाद से वह ऐसी गायब हुई कि अब तो वर्ष भर बिना स्कूल जाए सरकारी वेतन ले रही है। 

इस मामले में बकायदा स्कूल के प्राचार्य ने शिकायत कर श्रीमती निधि शर्मा के अनुपस्थित होने को लेकर शिक्षा विभाग में शिकायत भी दर्ज कराई है बावजूद इसके इस मामले में अब तक कोई कार्यवाही नहीं हुई और शिक्षिका निधि शर्मा वेतन लिए जा रही है। 

सूत्रों की बातों पर गौर करें तो यह सब सत्ता की खनक के चलते बाल संरक्षण आयोग अध्यक्ष की बहू को मिल रहा पराश्रय है जिसके चलते वह स्कूल ना जाकर वेतन ले रही है। बताया गया है कि इस मामले में बहू निधि शर्मा स्वयं को विशेष व्यवस्था के तहत स्कूल रातौर में अपने आपको पदस्थ बता रही है और वह वेतन भी ले रही है। वहीं दूसरी ओर शिक्षिका के रूप में ग्राम चाड़ में पदस्थ होने के बावजूद भी श्रीमती निधि शर्मा की अनुपस्थिति बीते 14 माह से रही जिसका खुलासा डीपीसी शिरोमणि दुबे ने किया। वहीं दूसरी ओर संकुल प्रभारी नासिर खान ने शिक्षिका निधि शर्मा की विद्यालय में अनुपस्थिति को लेकर कई शिकायतें की और बता भी दिया गया। लेकिन इस  ओर शिक्षा विभाग द्वारा कोई कदम नहीं उठाया गया। 

अब चर्चा है कि बाल संरक्षण आयोग अध्यक्ष के दबाब के चलते यह सब खेल चलता रहा हालांकि अब मामला सामने आने के बाद संभवत: शिक्षिका निधि शर्मा के कार्य को लेकर उनके द्वारा वेतन और नवीन जगह विशेष व्यवस्था के तहत हुई पदस्थी को लेकर  जांच किए जाने की संभावना है। 

No comments:

Post a Comment

प्रतिक्रियाएं मूल्यवान होतीं हैं क्योंकि वो समाज का असली चेहरा सामने लातीं हैं। अब एक तरफा मीडियागिरी का माहौल खत्म हुआ। संपादक जो चाहे वो जबरन पाठकों को नहीं पढ़ा सकते। शिवपुरी समाचार आपका अपना मंच है, यहां अभिव्यक्ति की आजादी का पूरा अवसर उपलब्ध है। केवल मूक पाठक मत बनिए, सक्रिय साथी बनिए, ताकि अपन सब मिलकर बना पाएं एक अच्छी और सच्ची शिवपुरी। आपकी एक प्रतिक्रिया मुद्दों को नया मोड़ दे सकती है। इसलिए प्रतिक्रिया जरूर दर्ज करें।