शिव की नगरी में गणेशोत्सव की धूम, राधाष्टमी पर लगी मनमोहक झांकी

शिवपुरी। भगवान शिव की नगरी शिवपुरी में गणेश महोत्सव की धूम मची हुई है। महोत्सव के पांचवे दिन शहर भर में धार्मिक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ-साथ जीवंत झांकिया लगाने का सिलसिला जारी है कल शहर के अनेकां स्थानों पर एक से बढक़र एक मनमोहक झांकियां लगाई गईं जिसमें सबसे सुंदर झांकी गांधी कॉलोनी, कुशवाह मोहल्ला में लगाई गई। उक्त झांकियां शहर भर में प्रसिद्ध रहीं।

शहर में विभिन्न स्थानों पर लगाई जा रही झांकियां बिजली घर की झांकियों की तर्ज पर निर्मित की जा रही हैं। जहां कल भगवान शिव की आराधना की झांकी का जीवंत चित्रण किया गया। झांकी में भगवान शिव के भक्त हवन कर भगवान को प्रसन्न करते हुए बताए गए और भक्तों की भक्ती के अधीन होकर भगवान शिव स्वयं उनको दर्शन प्रकट हो गए।

इस दौरान शिव भक्त उनका स्वागत नृत्य करके कर रहे। उक्त झांकी में कलाकारों की कला के समक्ष दर्शनार्थी बंधे रहे और काफी देर तक झांकी का आनंद उठाते रहे। इस दौरान बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे। दूसरी झांकी जल मंदिर का राजा बाबा समिति द्वारा लगाई गई जिसमें भगवान शिव नंदी पर सवार  होकर भूत पिशाच और सेवकों के साथ बारात लेकर माता पार्वती ब्याहने जा रहे थे। 

वहीं माता पार्वती हाथों में जयमाला लेकर अपनी सखियों के साथ भगवान के आगमन की प्रतिक्षा कर रही थीं। तीसरी झांकी जयशिव बाल मंदिर समिति ओरियंटल बैंक के पीछे लगाई गई। जिसमें मां काली का रौद्र रूप दर्शाया गया और उनके आक्रोश को शांत करने भगवान शिव मां के चरणों के नीचे थे। 

चौथी झांकी घूरेश्वर उत्सव समिति आर्यसमाज रोड़ द्वारा लगाई गई जिसमें भगवान श्रीकृष्ण की नगरी द्वारिका में उनके बाल सखा सुदामा के बीच हुए मिलाप को बड़े ही मार्मिक तरीके से दर्शाने की झांकी लगाई गई। जहां भगवान कृष्ण अपने मित्र सुदामा को अपने आसन पर बैठाकर स्वयं उनके चरणों को अपनी अश्रुधारा से धो रहे थे। वहीं भगवान के दरबार में मौजूद हर कोई भगवान के इस व्यवहार से आश्चर्यचकित देखा जा रहा था। 

उक्त झांकी में नन्हें मुन्ने कलाकारों द्वारा जो प्रस्तुति दी गई उसकी हर तरह से प्रशंसा की जा रही थी। महल कॉलोनी में भी भगवान श्रीकृष्ण और राधा का युगल स्वरूप की झांकी लगाई गई। कल राधाष्टमी के चलते समिति के सदस्य भगवान गणेश को छप्पन भोग अर्पित किया। तारकेश्वरी कॉलोनी में गणेश युवा मंडल समिति द्वारा भगवान कृष्ण और राधा को महारास की झांकी लगाई और राधा जन्मोत्सव बड़ी धूमधाम से मनाया गया। 

इस दौरान समिति के सदस्यों ने जमकर माखन मिश्री लुटाई। महारास की झांकी में भगवान कृष्ण और राधा के युगल स्वरूप को दर्शाया गया। वहीं ब्रज की गोपियां भी महारास में शामिल रहीं। आर्यसमाज रोड़ पर श्रीकृष्ण और राधा के झूला झूलने की मनमोहक झांकी जीवंत रूप  से प्रस्तुत की गई। झांकियां रात्रि 9:30 बजे से गणेश पांडालों में आरती के पश्चात खोली गईं। जिन्हें देखने देर रात तक भक्त पांडालों में पहुंचते रहे। जिससे शहर मेें चहल-पहल बनी रही। झांकियों के साथ-साथ शहर के कई स्थानों पर भजन संध्याएं भी आयोजित की गईं जहां स्थानीय और बाहरी कलाकारों ने अपनी प्रस्तुतियां दीं।

बैराड़ में राधाष्टमी पर रामजानकी मंदिर पर निकाली मनमोहक झांकी
जिले के बैराड़ में राधाष्टमी के पावन पर रामजानकी मंदिर पर मनमोहक झांकीयों का आयोजन किया गया। इस झांकी में राधाकृष्ण की मनमोहक झांकी लगाई गई। इस झांकी का आयोजन बंटी पुजारी, राघवेन्द्र पुजारी, गोविंद पुजारी,छोटे पुजारी, राघव व्यास, विशाल, रानू मुदगल, कुलदीप, नरौत्तम, आशूताष व्यास,शक्ति श्रीवास्तव,रविन्द त्रिवेदी, बल्लू सोनी ने उक्त झांकी का आयोजन किया। 
Share on Google Plus

About Yuva Bhaskar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

0 comments: