पहली बारिश में ही सडक़ बनी बच्चों का स्विमिंग पूल, घरों में घुसा पानी

शिवपुरी। चौकिये नही ! यह दृश्य किसी तालाब का नहीं बल्कि शहर के बीचों बीच स्थित तारकेश्वरी कॉलोनी का है जहां शहर में पहली जौरदार बारिश में सडक़े तालाब बन जाती है और रिहायशी क्षेत्र के बीचो-बीच जहां घरों में पानी भर जाता है वही सडक़ों पर बच्चों के लिए स्विमिंग पुल बन जाता है। मजेदार बात यह भी है की इसकी सूचना बार-बार स्थानीय निवासियों द्वारा नगर पालिका के जिम्मेदार अफसरों को दी जा चुकी है किंतु उसके बाद भी उनके कानों पर कभी भी जूं नहीं रेंगती।

जानकारी के अनुसार पुरानी शिवपुरी क्षेत्र में ठाकुर बाबा मंदिर के निकट तारकेश्वरी कॉलोनी की गली के वाशिंदे इन दिनों नारकीय जीवन जीने को मजबूर हैं। थोड़ी सी बारिश में यहां की सडक़ें दलदल में तब्दील हो जाती है और पानी घरों में आ जाता है। भरे हुए इस पानी की निकासी का कोई कोई भी प्रबंध नहीं है जिसके कारण यहां के वासियों को आए दिन बारिश के समय बाढ़ जैसे हालातों का सामना करना पड़ता है। ऐसा नहीं कि यहां के रहवासियों ने इन हालातो की सूचना जिम्मेदार अफसरों को न दी हो। 

पार्षद, नगर पालिका के अधिकारी और प्रशासन सभी को जानकारी देने के बाद भी किसी भी अधिकारी के कानों पर कोई जू नहीं रेग रही है।कॉलोनी के रहवासियों का कहना है इस क्षेत्र को न जाने क्यों उपेक्षित से छोड़ दिया गया है जिससे यहां भरने वाला पानी लोगों के लिए परेशानी का सबब पैदा कर रहा है। रह वासियों का कहना है कि चंद समय की बारिश में ही जब हालात ऐसे हो जाते हैं तो यदि तेज बारिश लंबे समय तक हो गई तो फिर स्थिति क्या होगी। ्र

संपूर्ण घटनाक्रम से कॉलोनी वासियों में रोष पनपता जा रहा है। इस गली के बाशिंदों का कहना है कि यदि तत्काल प्रभाव से नगरपालिका ने इसकी व्यवस्था नहीं की तो वह उग्र आंदोलन के लिए बाध्य होंगे।उनकी हालत घरो में केद होने जेसी हो गयी है।

जिले में 266.3 मिमी वर्षा दर्ज
शिवपुरी। शिवपुरी जिले मेें 1 जून 2017 से अभी तक कुल 266.3 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज की गई। जबकि जिले में गत वर्ष 08 अगस्त 2016 तक 700.0 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज हुई। अधीक्षक भू अभिलेख षिवपुरी से प्राप्त जानकारी अनुसार 1 जून 2017 से 08 अगस्त 2017 तक तहसीलवार वर्षा की स्थिति इस प्रकार है। षिवपुरी में 248.0 मि.मी., कोलारस में 241.0 मि.मी., करैरा में 234.3 मि.मी., नरवर में 275.0 मि.मी., पिछोर में 356.0 मि.मी., खनियांधाना 240.0 मि.मी. पोहरी में 320.0 मि.मी., बदरवास में 216.0 मि.मी. वर्षा दर्ज की गई।
Share on Google Plus

About Bhopal Samachar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

0 comments: