भीम एप के नाम पर ठगी: रिमांड में 4 नए नाम सामने आए, बचाव में BJP नेता सक्रिय

सतेन्द्र उपाध्याय/शिवपुरी। जिले के पोहरी थाना क्षेत्र पोहरी कस्बे में भीम एप के नाम पर ठगी के मामले में अब पुलिस की जांच ही संदेह की जद में आती जा रही है। हालांकि अभी कार्रवाई समाप्त नहीं हुई है परंतु सूत्र दावा कर रहे हैं कि मामले में लीपापोती की जा रही है। खबर है कि गिरफ्तार हुए बदमाश ने रिमांड के दौरान 4 नए नाम भी बताए हैं परंतु पुलिस इन सभी को सूचीबद्ध नहीं कर रही है। इस मामले में एक भाजपा नेता का नाम भी सामने आ रहा है जो बदमाशों को बचाने की कोशिश कर रहा है। 

विदित हो कि शिवपुरी समाचार डॉट कॉम ने कुछ दिनों पूर्व 'भीम एप के नाम पर ठगी, महिला के खाते से निकाल लिए रूपए' शीर्षक के साथ खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया था। इस खबर की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार पाण्डे ने तत्काल आरोपियों पर कार्यवाही करने के निर्देश टीआई पोहरी को दिए। जिस पर टीआई ने संजय बराई के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर कोर्ट में पेश किया। पुलिस ने कोर्ट से उक्त आरोपी को रिमांड पर लिया। पुलिस सूत्रों का कहना है कि रिमांड के दौरान आरोपी संजय बराई ने अपने चार साथी फैयाज खान, मोहर सिंह धाकड़, अरविंद वर्मा और गोविंद धाकड़ के शामिल होने की बात स्वीकार की है। 

चारों नामों के खुलासे होने पर यह मामला और ज्यादा सुर्खियों में आ गया। सूत्रों के अनुसार चारों नाम उजागर होने के बाद ठगी के मास्टर माइंड ने एक भाजपा नेता से संपर्क किया। पहले तो भाजपा नेता ने उसे संरक्षण देने से इंकार कर दिया परंतु कुछ समय बाद एक गुप्त समझौता हुआ और भाजपा नेता ने उसे आश्वस्त किया कि वो एसडीओपी से बात करेंगे। अब कहा जा रहा है कि भाजपा नेता ने इस पूरे मामले को ठंडा करवाने के लिए पोहरी से लेकर शिवपुरी तक सभी प्रमुख पुलिस अधिकारियों के नाम पर 25-25 हजार रूपए की मांग की है। इन चर्चाओं में कितना सच है और कितना झूठ यह तो वक्त ही बताएगा परंतु यह जरूर तय हो गया कि मामले की जांच प्रक्रिया पर गहरी नजर बनाए रखने की जरूरत है। 

इनका कहना है-
इस मामले में दो आरोपीयों द्वारा उक्त घटना को अंजाम दिया गया था। अब आरोपी ने 4 लोगों के नाम बताए है यह मुझे नहीं पता, महिला ने दो लोगों की शिकायत की थी वह इस मामले में आरोपी बनाए जाएंगे। रही बात रूपए लेने की तो में इस मामले को दिखवाता हूं। 
सुनील कुमार पाण्डे, पुलिस अधीक्षक शिवपुरी

हम इस मामले की जांच कर रहे हैै। अभी जांच पूरी नहीं हो पाई है। जानकारी जुटाई जा रही हैै और जो नाम बताए है उनके खातों की डिटेल्स चैक की जा रही है। अब जो नाम लिए है वह जलन के चलते भी लिए जा सकते है तो ऐसा नहीं है कि किसी भी बेकसूर को आरोपी बना दिया जाए। इस मामले में जो भी दोषी होगा उसका नाम जुड जाएंगा। 
बीडी अहिरवार, टीआई पोहरी
Share on Google Plus

About Bhopal Samachar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

1 comments:

emrat kushwah said...

Jab tak koi samaj ka vikas ni hona sambhav h jab tak raja ki kursi uske hath me ni h

-----------