Monday, July 03, 2017

परिवार परामर्श केन्द्र वर्तमान समय की महती आवश्यकता है: IG अनिल कुमार

शिवपुरी। परिवार परामर्श केन्द्र वर्तमान समय की महती आवश्यकता है और यह हमारे समाज को बनाए रखने के लिए उपयोगी भी है। उक्त बात ग्वालियर रेंज के आईजी अनिल कुमार ने शिवपुरी के जिला पुलिस परिवार परामर्श केन्द्र के सदस्यों के साथ मीटिंग में कही। उन्होंने शिवपुरी के परिवार परामर्श केन्द्र के काम को न केवल शानदार बताया, बल्कि यह भी कहा कि पूरे ग्वालियर जोन में मैं इन केन्द्रों को एक्टीवेट करूंगा ताकि समाज को इसका लाभ मिल सके। उन्होंने शिवपुरी पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार पाण्डेय को निर्देशित किया कि जिले में 498 का केस दर्ज करने से पहले हर हालत में परिवार परामर्श केन्द्र भेजा जाए और जब सारे प्रयास असफल हो जाएं तब अपराध पंजीबद्ध किया जावे। इस प्रक्रिया से हमारा प्रयास होगा कि हम परिवार को टूटने से बचा सकें। 

अपने शिवपुरी प्रवास पर आए ग्वालियर रेंज के आईजी अनिल कुमार स्थानीय पुलिस कंट्रोल रूम में जिला पुलिस परिवार केन्द्र के सदस्यों से अनौपचारिक भेंट की और उनके मार्गदर्शन के लिए पहुंचे। 

प्रारंभ में पुष्प गुच्छों से परिवार परामर्श केन्द्र के सदस्यों द्वारा उनका स्वागत किया गया और इस अवसर पर पुलिस कंट्रोल रूम में वाटर कूलर लगवाने वाले परिवार परामर्श केन्द्र के वरिष्ठ सदस्य सुरेशचंद जैन का शॉल, श्रीफल से आईजी महोदय ने सम्मान किया। 

सभी सदस्यों का परिचय जिला संयोजक आलोक एम. इंदौरिया ने कराया और परिवार परामर्श केन्द्र की विगत तीन माह की रिपोर्ट प्रस्तुत की। उन्होंने आईजी महोदय को बताया कि अब तक छह बैठकों में लगभग 35 केस सुलझाए जा चुके हैं जिसमें एक दिन में सर्वाधिक सात केसों में राजीनामा करवाया जाना मध्यप्रदेश में एक रिकार्ड है। 

जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी ओपी पाण्डेय ने परिवार परामर्श की अवधारणा के बारे में बताया और कहा कि शिवपुरी का परिवार परामर्श केन्द्र मध्यप्रदेश के सर्वश्रेष्ठतम केन्द्रों में से एक है। एडिशनल एसपी कमल मौर्य ने विस्तार से परिवार परामर्श केन्द्र की गतिविधियों के बारे में विस्तार डाला और बताया कि किस तरह से यहां परिवार परामर्श केन्द्र बेहतर काम कर रहा है। 

इस अवसर पर पुलिस कप्तान सुनील कुमार पाण्डेय ने परिवार परामर्श केन्द्र की भूरि-भूरि प्रशंसा करते हुए इसके सभी सदस्यों को काम के प्रति लगन और अनुशासन की प्रशंसा करते हुए कहा कि इनके शानदार काम को देखकर मैं स्वयं अचंभित हूं। उन्होंने कहा कि हम अब राजीनामे वाले केसों में फॉलोचैक प्रारंभ कर रहे हैं और कुछ केसों में हमारे द्वारा फॉलोचैक किया गया है। 

उन्होंने कहा कि परिवार परामर्श केन्द्र के नतीजे बहुत ही पॉजीटिव है और बहुत ही अल्प अवधि में इसके द्वारा 35 परिवारों को बिछुडऩे से बचाया गया जो निश्चित रूप से एक शिवपुरी परिवार परामर्श केन्द्र के लिए बड़ी उपलब्धि है। इससे पुलिस का कीमती समय बचता है साथ ही परिवार भी टूटने से बचते हैं। 

इस अवसर पर महिला डेस्क की निवृत्तमान प्रभारी आराधना डेविस के द्वारा परिवार परामर्श केन्द्र के लिए जो महती भूमिका का निर्वहन किया गया और इसे सफल बनाने में योगदान दिया गया, व्यक्तिगत रूप से कप्तान सुनील पाण्डेय और जिला संयोजक आलोक एम. इंदौरिया ने आईजी साहब को इससे व्यक्तिगत रूप से अवगत कराया। 

इस अवसर पर एसडीओपी करैरा अनुराग सुजानिया, एसडीओपी कोलारस, सुजीत भदौरिया, एसडीओपी शिवपुरी जीडी शर्मा, टीआई संजय मिश्रा, आरआई अरविन्द सिकरवार, इंस्पेक्टर आराधना डेविस सहित परिवार परामर्श केन्द्र के सभी सदस्य उपस्थित थे। 

1 comment:

प्रतिक्रियाएं मूल्यवान होतीं हैं क्योंकि वो समाज का असली चेहरा सामने लातीं हैं। अब एक तरफा मीडियागिरी का माहौल खत्म हुआ। संपादक जो चाहे वो जबरन पाठकों को नहीं पढ़ा सकते। शिवपुरी समाचार आपका अपना मंच है, यहां अभिव्यक्ति की आजादी का पूरा अवसर उपलब्ध है। केवल मूक पाठक मत बनिए, सक्रिय साथी बनिए, ताकि अपन सब मिलकर बना पाएं एक अच्छी और सच्ची शिवपुरी। आपकी एक प्रतिक्रिया मुद्दों को नया मोड़ दे सकती है। इसलिए प्रतिक्रिया जरूर दर्ज करें।