Tuesday, July 11, 2017

धायमहादेव के मंदिर पर नरेंद्र सिंह तोमर के पुत्र ने चांदी का छत्र चढ़ाकर किया अभिषेक


शिवपुरी। हिन्दू धर्म में आस्था का महीना श्रवण मास का अपना एक अलग ही महत्व है। श्रावण मास की शुरुआत सोमवार से हुई इसी के चलते मन्दिरों में आस्था का रंग दिखाई दिया। खोड हमेशा से ही अपनी प्राकृतिक सौंदर्यता के लिए भी जिले में अपना स्थान वनाये हुए हैं। इसी प्रकार धायमहादेव मंदिर भी आस्था के लिये पूरे भारत में अपनी ख्याति प्राप्त किए हुए हैं। खोड धायमहादेव मंदिर अपनी मान्यताओं के लिए भी जाना जाता है।  


यहां पर जो भी मनोकामना मांगते है। वह भी पूरी होती हैं। इन्हीं मान्यताओं के चलते महिलाएं व वालिकाऐ सोमवार के व्रत करती है। वहीं दूसरी ओर मन्दिर पर अभिषेक कर पुन्य अर्जित करते हैं। इसी क्रम में श्रावण मास के प्रथम दिन प्रथम सोमवार के शुभ अवसर पर केन्द्रिय मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर के सुपुत्र प्रबल प्रताप सिंह तोमर (रघु भैया) ने खोड धायमहादेव मंदिर पर आकर रूद्र अभिषेक किया। 

इसी दौरान युबा मोर्चा मंडल खोड के अध्यक्ष राजेन्द्र सिंह चौहान के नेतृत्व में प्रबल प्रताप सिंह तोमर का सिरसौद तिराहे पर सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ भव्य सुवागत किया एबं इसी दौरान श्री तोमर का आगमन मंडल अध्यक्ष श्री चौहान के निवास पर भी हुआ जहां पर मंडल अध्यक्ष श्री चौहान के परिवार सहित समस्त ग्रामबासियों ने श्री तोमर का शॉल श्रीफल एबं पुष्पमालाओं से आत्मीय स्वागत किया। 

इस दौरान मुख्य रूप से चौहान परिबार के मुखिया उमराव सिंह दादाजी रघुवीर सिंह चौहान कृपाल सिंह तोमर जीतेन्द्र सिंह चौहान भान सिंह चौहान के पी राजा सुजान सिंह परमार ब्रजभान सिंह चौहान नाती राजा रामपाल सिंह बुन्देला अरविन्द सिंह परमार राजू राजा गोपाल सिंह चौहान सुरेन्द्र सिंह चौहान रामहेत गुर्जर ब्रजेश प्रजापति शिशुपाल परिहार हरज्ञान परिहार वीरू परिहार एबं सैकड़ों कार्यकर्ता स्वागत में शामिल हुए

No comments:

Post a Comment

प्रतिक्रियाएं मूल्यवान होतीं हैं क्योंकि वो समाज का असली चेहरा सामने लातीं हैं। अब एक तरफा मीडियागिरी का माहौल खत्म हुआ। संपादक जो चाहे वो जबरन पाठकों को नहीं पढ़ा सकते। शिवपुरी समाचार आपका अपना मंच है, यहां अभिव्यक्ति की आजादी का पूरा अवसर उपलब्ध है। केवल मूक पाठक मत बनिए, सक्रिय साथी बनिए, ताकि अपन सब मिलकर बना पाएं एक अच्छी और सच्ची शिवपुरी। आपकी एक प्रतिक्रिया मुद्दों को नया मोड़ दे सकती है। इसलिए प्रतिक्रिया जरूर दर्ज करें।