करैरा में स्टूडेंट्स छाप रहे थे मोदी के नए नोट

शिवपुरी। जिन नए नोटों को पाने के लिए लोग नोटबंदी के दौरान घंटों लंबी कतार में खड़े रहे। उनका नकली प्रिंट करैरा में कॉलेज स्टूडेंट्स छाप रहे थे। उनके पास से बड़ी मात्रा में नकली नोट मिले हैं। पुलिस ने 7 दोस्तों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से 80700 रुपए मूल्य के नकली नोट मिले हैं। सूत्रों का दावा है कि पहले ये 2000 और 500 के नोट छापते थे। जब कई जगह इस तरह के नोट पकड़े गए तो बचने के लिए इन्होंने 100 के नोट छापना शुरू कर दिए। 

जानकारी के अनुसार पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार पाण्डे को मुखबिर से सूचना मिली कि करैरा में लगातार नकली नोट मार्केट में आ रहे है। और इन नोटो को करैरा में ही प्रिंटर पर छापा जा रहा है। पुलिस अधीक्षक ने तत्काल एसडीओपी अनुराग सुजानिया को कार्यवाही के लिए निर्देशित किया। एसडीओपी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए तत्काल थाना प्रभारी करैरा संजीव तिवारी को उक्त आरोपीयों की घेराबंदी कर पकडने के निर्देश दिए।

टीआई संजीव तिवारी मय दल के मौके पर पहुंंचे तो आरोपी आशीष तिवारी पुत्र ओमप्रकाश तिवारी उम्र 21 साल निवासी मण्डी के पास जो कि बीएससी का छात्र है, नितिन पुत्र शिवशंकर भार्गव उम्र 22 वर्ष निवासी कच्ची गली करैरा जो एमएससी का छात्र है, दीपांकर पुत्र बाबूलाल दिवाकर उम्र 23 वर्ष निवासी मण्डी के पास करैरा जो कि एलएलबी का छात्र है।

आशुतोष पुत्र किरण सक्सेना उम्र 20 साल निवासी जामा मस्जिद के सामने जो कि पोलिटेक्निक का छात्र है, कियाफत उर्फ कैफी पुत्र समीउल्ला खाँ उम्र 19 वर्ष निवासी टकटकी,हर्षित पुत्र प्रह्लाद राठौर उम्र 21 वर्ष निवासी पुरानी तहसील करैरा जो कि बीएससी का छात्र है को गिरफ्तार कर लिया। 

पकड़े गए सभी आरोपी छात्र है जो कि मार्केट में कलर प्रिंटर से नकली नोट बनाकर मार्केट में खफाने का काम करते थे। पुलिस ने इन आरोपीयों से एक कम्प्यूटर,कलर प्रिंटर, 80 हजार के सौ-सौ रूपए के नकली नोट बरामद किए है। 

इस कार्यवाही को अंजाम देने में थाना प्रभारी संजीव तिवारी के साथ सहायक उप निरीक्षक अजय जाट, उप निरीक्षक राघवेन्द्र सिंह यादव, पुलिस उप निरीक्षक संध्या श्रीवास्तव, आरक्षक विजय कटारे, आरक्षक प्रह्लाद यादव, आरक्षक अखिलेश शर्मा, आरक्षक अमित यादव, आरक्षक हिमालय की सराहनीय भूमिका रही। 
Share on Google Plus

About Yuva Bhaskar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

0 comments:

Post a Comment

प्रतिक्रियाएं मूल्यवान होतीं हैं क्योंकि वो समाज का असली चेहरा सामने लातीं हैं। अब एक तरफा मीडियागिरी का माहौल खत्म हुआ। संपादक जो चाहे वो जबरन पाठकों को नहीं पढ़ा सकते। शिवपुरी समाचार आपका अपना मंच है, यहां अभिव्यक्ति की आजादी का पूरा अवसर उपलब्ध है। केवल मूक पाठक मत बनिए, सक्रिय साथी बनिए, ताकि अपन सब मिलकर बना पाएं एक अच्छी और सच्ची शिवपुरी। आपकी एक प्रतिक्रिया मुद्दों को नया मोड़ दे सकती है। इसलिए प्रतिक्रिया जरूर दर्ज करें।